आतंकियों के 3 सहयोगी काबू

लश्कर आतंकियों के 3 सहयोगी काबू

मध्य कश्मीर के बड़गाम जिले में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के 3 सहयोगियों को गिरफ्तार किया व उनके कब्जे से हथियार, गोलाबारूद और आतंकी संगठनों के पोस्टर बरामद किए गए। रविवार को बड़गाम पुलिस, सेना और सी.आर.पी.एफ. की संयुक्त टीम ने पुख्ता सूचना के आधार पर छापामारी कर आतंकियों के 3 सहयोगियों को गिरफ्तार किया। उनकी पहचान मोहम्मद यूसुफ डार उर्फ जांबाज कश्मीरी पुत्र गुलाम रसूल डार, अब्दुल मजीद मीर पुत्र असदल्लाह मीर दोनों निवासी चेवडारा बीरवाह और रियाज अहमद बासमती पुत्र मोहब्बत मकबूल बासमती निवासी सफाकदल श्रीनगर के रूप में हुई। इनके पास से 2 ग्रेनेड, एके-47 के 25 कारतूस, 4 डेटोनेटर, मोबाइल, पोस्टर व अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई। पूछताछ में खुलासा हुआ कि कश्मीर घाटी में जिला विकास परिषद के नवनिर्वाचित सदस्यों को निशाना बनाने, पुराने आतंकियों को दोबारा सक्रि य करने और सुरक्षाबलों पर हमलों में तेजी लाने के लिए यह लोग एक साजिश के तहत काम कर रहे थे। ये सभी पाकिस्तान में हैंडलर शेख, उस्मान, तारिक, हफतुल्लाह के इशारे पर कश्मीर में आतंकी घटनाओं को बढ़ावा दे रहे थे। इसके अलावा इन लोगों को सुरक्षाबलों पर हमले, पुराने आतंकियों को दोबारा सक्रि य करने आतंकी संगठनों में युवाओं की भर्ती करने और कश्मीर में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने का जिम्मा सौंपा गया था। यह लोग पाकिस्तानी शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश हासिल करने की आड़ में बड़गाम में आतंकवादियों की भर्ती कर रहे थे। पूछताछ में खुलासा हुआ कि यह लोग श्रीनगर जिले में कई ग्रेनेड हमलों में भी शामिल थे। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए लोग लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के लिए काम करते थे और अब यह एक नए आतंकी संगठन तहरीक उल मुजाहिदीन के साथ भी जुड़े हुए थे। यह लोग राजनीतिक कार्यकर्त्ताओं को धमकाने के मामले में भी शामिल थे और इनके कब्जे से धमकी भरे पोस्टर भी बरामद किए गए हैं।



Live TV

Breaking News

Loading ...