Tibetan families, Pradhan Mantri Awas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 72 तिब्बती परिवारों को मिलेंगे घर

शिमलाः शिमला के उपनगर संजौली में रह रहे 72 तिब्बती परिवारों को नगर निगम मल्याणा में बसाएगा। निगम ने संजौली में अवैध ढारों में रह रहे इन तिब्बती परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्के आवास बना कर देने का फैसला लिया है। योजना को धरातल पर उतारने के लिए भूमि चयनित की गई है। निर्माण प्रस्ताव को मंजूरी के लिए सरकार को भेजा जाएगा।

संजौली में 1950 से ये तिब्बती परिवार रह रहे हैं। इन्होंने सरकारी भूमि पर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण किया हुआ है। नगर निगम इस भूमि पर दूसरी विकास गतिविधियों को चलाने की सोच रहा है। लिहाजा तिब्बती परिवारों को मल्याणा में बसाने की योजना है। योजना के तहत तिब्बती परिवारों से सुझाव भी लिए जाएंगे। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एमसी उक्त 72 परिवारो के लिए मल्याणा में आवासीय कालोनी तैयार करेगा। एमसी का कहना है कि तिब्बती परिवारों को अच्छे मकान बना कर दिए जाएगा, साथ ही राशन व अन्य जरूरत के सामान की दुकानों की भी व्यवस्था का प्रयास किया जाएगा।

नगर निगम की बैठक में इसे लेकर प्रस्ताव पारित हो चुका है। प्रस्ताव को शहरी विकास विभाग को भेजा जाना है। विभागीय औपचारिकताएं पूरी होने के साथ ही मल्याणा में इनके लिए आवासीय कालोनी को निर्माण कार्य होगा। बता दें कि अवैध रूप से बनी तिब्बती कालोनी को करीब 26 लाख के खर्च पर सीवरेज व्यवस्था से जोड़ने के साथ 35 शौचालयों का निर्माण करवाया गया है। इसके अलावा पेयजल व्यवस्था के लिए तीन सार्वजनिक नल में भी लगवाए गए है। वहीं उन परिवारों की सहमति पर एमसी इन्हे मल्याण में बसााया जाएगा।