AAP

'आप' ने 8 दिसंबर को भारत बंद के आह्वान को समर्थन देने का किया ऐलान

चंडीगढ़: केंद्र सरकार द्वारा थोपे गए काले कानूनों को रद्द करवाने के लिए किसानों और केंद्रीय मंत्रियों के दरमियान हुई 5वें दौर की बैठक भी बेनतीजा रहने पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के अध्यक्ष और सांसद भगवंत मान ने कहा कि मोदी सरकार का अडियल रवैया न केवल किसानों बल्कि देश भर के हर वर्ग के लिए घातक साबित होगा, क्योंकि कृषि प्रधान देश होने के कारण देश की आर्थिकता कृषि पर ही निर्भर है। पार्टी हैडक्र्वाटर से जारी बयान के द्वारा भगवंत मान ने कहा कि बैठक पर बैठक करने के पीछे केंद्र सरकार की नीयत साफ नहीं है। 

मान ने कहा कि किसानों की मांग बिल्कुल सीधी, सरल और स्पष्ट है कि एम.एस.पी. पर फसलों की खरीद को कानूनी गारंटी और काले कानूनों को रद्द करने के लिए संसद का तुरंत विशेष सत्र बुलाया जाए। मान ने कहा कि यदि जी.एस.टी. लाने के लिए संसद का आधी रात को सत्र बुलाया जा सकता है तो सर्द रातों में खुले आसमान के नीचे बैठे अन्नदाता के लिए क्यों नहीं बुलाया जा सकता? इसके साथ ही भगवंत मान ने किसानों की ओर से 8 दिसंबर को भारत बंद के आह्वान का जोरदार समर्थन करते हुए पार्टी के सभी नेताओं और वॉलंटियरों से अपील की है कि वह पार्टी के झंडे और राजनैतिक एजेंडे के बिना भारत बंद को ऐतिहासिक बनाने में योगदान डालें।

Loading ...