वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र के अनुसार जानिए किस दिशा में नहीं रखने चाहिए पौधे

वास्तु शास्त्र के बारे में आज कल सभी लोग जानते है। हम सब को वास्तु शास्त्र से जुड़ी कुछ न कुछ जानकारी अवश्य होनी चाहिए। शास्त्रों के अनुसार अगर हमारे घर की कोई भी वास्तु ,वास्तु शास्त्र के अनुसार गलत जगहा पर रखी गई हो तो इसका हमारे जीवन पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है। वास्तु शास्त्र में सभी दिशाओं का अपना एक अलग महत्व होता है। दक्षिण-पश्चिम दिशा को ‘नैऋत्य दिशा’ भी कहते हैं। South West दिशा में खुलापन अर्थात खिड़की, दरवाजे बिल्कुल नहीं होने चाहिए। आप भी जानिए वास्तु शास्त्र के अनुसार किस स्थान पर होनी चाहिए घर पर राखी ये वस्तुए :


गृहस्वामी का कमरा इस दिशा में होना चाहिए. इसके अलावा कैश काउंटर, मशीनें आदि आप दक्षिण-पश्चिम दिशा में रख सकते हैं. लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में इस दिशा में पौधे नहीं रखने चाहिए. आइए जानते हैं दक्षिण-पश्चिम दिशा से जुड़ी खास बातें...

- घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में हरे पौधे नहीं रखने चाहिए. एक तो इस दिशा में सूर्य की पर्याप्त रोशनी नहीं मिल पाती और दूसरा वास्तु की दृष्टि से पौधों के लिए ये जगह अशुभ मानी जाती है. दक्षिण-पश्चिम दिशा में पौधे रखने से घर में आर्थिक परेशानी होती है.

- घर के दक्षिण-पश्चिम कोने को भारी और भरा हुआ रखना चाहिए. जिससे राहु ग्रह शांत रहे.

- इस दिशा में शौचालय होने से पितृ दोष भी माना जाता है. राहु और पितृदोष के कारण ऐसे घरों में हमेशा नकारात्मक ऊर्जा रहती है.


- ईश्वरीय शक्ति ईशान कोण से प्रवेश करती है और नैऋत्य कोण (पश्चिम-दक्षिण) से बाहर निकलती है. दक्षिण दिशा में मंदिर बनवाने से बचना चाहिए.

- घर के दक्षिण-पश्चिम दिशा में स्टोर रूम और गृहस्वामी का कमरा बनाया जा सकता है.

- इस दिशा को पितरों का स्थान भी माना जाता है.

- अगर दक्षिण-पश्चिम दिशा में खिड़की और दरवाज़ा है तो हनुमान जी की मूर्ति इस तरह लगाएं कि उनकी दृष्टि दक्षिण की दिशा में रहे.

Breaking News

Live TV

Loading ...