China

और ऊंचे स्तर पर खुलेपन का विस्तार करेगा चीन

चीनी केंद्रीय वित्त समिति के कार्यालय के उप प्रधान हान वनशो ने 30 अक्तूबर को पेइचिंग में कहा कि चीन और ऊंचे स्तर पर खुलेपन का विस्तार करेगा, विदेशी उद्यमों के बाजार में प्रवेश करने का विस्तार करेगा, ताकि चीन विश्व श्रेष्ठ संसाधनों और विदेशी निवेश को आकृषित करने वाला स्थान बन सके।

अभी-अभी संपन्न सीपीसी पार्टी की 19वीं केंद्रीय समिति के 5वें पूर्णाधिवेशन में चीन की 14वीं पंचवर्षीय योजना बनायी गयी। इसकी चर्चा में हान वनशो ने कहा कि चीन घरेलू चक्र को प्राथमिकता देने घरेलू और विदेशी दोहरे चक्र के आपसी बढ़ावा देने के नये विकास ढांचे की रचना करेगा। यह चीन की स्वेच्छा की कार्यवाई है, जो एक लम्बी रणनीति है। विश्व की दूसरी बड़ी आर्थिक इकाई होने के नाते अन्य बड़े देशों की अर्थव्यवस्था की तरह चीन में घरेलू आपूर्ति और मांग को आर्थिक चक्र के लिए प्रमुख स्तंभ की भूमिका अदा करनी चाहिए। 

आंकड़े बताते हैं कि चीन में विदेशी व्यापार की निर्भरता यानी जीडीपी में आयात-निर्यात रकम का अनुपात पहले के 60 प्रतिशत से अब के 30 प्रतिशत कम किया गया है। आर्थिक विकास में घरेलू मांग की योगदान दर 90 प्रतिशत से अधिक होती रही है। चीन में आर्थिक विकास ज्यादा से ज्यादा घरेलू उपभोग और निवेश पर निर्भर करता है। 

साथ ही, हान वनशो ने जोर दिया कि चीन के नये विकास ढांचे में घरेलू और विदेशी दोहरे चक्र पर जोर दिया गया है, जबकि सिर्फ घरेलू चक्र नहीं है। चीन और ऊंचे स्तर पर विदेशों के लिए अपने द्वार खोलेगा, विदेशी उद्यमों को चीन आने के लिए प्रोत्साहित करेगा। भविष्य में चीन में विदेशी व्यापार के आयात निर्यात में वृद्धि होगी, साथ ही चीन और अधिक विदेशी पूंजी व निवेश का प्रयोग करेगा, ताकि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में चीन का स्थान निरंतर उन्नत हो सके। 
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)