Anurag Thakur

पीएम केयर्स फंड के विरोध पर अनुराग ठाकुर बोले- 'कांग्रेस की नीयत में ही खोट'

लोकसभा में बहस का दौर शुरु हो गया है। सरकार और विपक्ष के बीच तीखी बहस लोकसभा में जारी है। लोकसभा में कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि पीएम केयर्स फंड का नाम प्रधानमंत्री की संस्था से जुड़ा हुआ है, इसलिए यह अधिक उपयुक्त नहीं होगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर यह फंड सार्वजनिक विश्वास के बजाय कानून के माध्यम से बनाया गया होता तो ज्यादा उपयुक्त होता। वहीं, मनीष तिवारी के इस बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा- ''पीएम केयर्स फंड का विरोध, केवल विरोध के नाम पर हो रहा है, जिस तरह से इन्होंने ईवीएम का विरोध किया और कई चुनाव हारे। इन्होंने लगातार जन-धन योजना, विमुद्रीकरण, तीन तलाक और जीएसटी को बुरा बताया। इन्हें हर चीज में खामी नजर आती है, जबकि खुद इनकी ही नीयत में खोट है।''

विपक्ष के विरोध का जवाब देते हुए अनुराग ठाकुर ने आगे कहा- पीएम केयर्स फंड एक पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट है, जिसकी स्थापना भारत के लोगों के लिए की गई है। आपने नेहरू-गांधी परिवार के लिए ट्रस्ट की स्थापना की। नेहरू और सोनिया गांधी पीएम नेशनल रिलीफ फंड के सदस्य रहे हैं। इस पर चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नेहरू जी ने 1948 में एक शाही आदेश की तरह प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष बनाने का आदेश दिया था लेकिन उसका पंजीकरण आज तक नहीं हो पाया है। एफसीआरए को मंजूरी कैसे मिली?