Delhi's borders, tractors

दिल्ली की सीमाओं से हटेंगे बैरिकेट्स, सभी ट्रैक्टर परेड में होंगे शामिल

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ओर से प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड को लेकर पुलिस और किसानों के बीच सहमति बन गई है। किसान बाहरी दिल्ली में ट्रैक्टर परेड करेंगे। दिल्ली में पांच अलग-अलग रूटों पर परेड होगी। सिंघु, गाजीपुर, टीकरी, पलवल व शाहजहांपुर बॉर्डर से किसान दिल्ली में प्रवेश करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार शाम घोषणा की कि किसानों की ओर से निकाली जाने वाली ट्रैक्टर परेड ऐतिहासिक होगी। दिल्ली पहुंचने वाले सभी ट्रैक्टरों को परेड में शामिल किया जाएगा। दिल्ली पुलिस ने भी माना कि किसानों की परेड का रूट तकरीबन फाइनल हो गया है। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से प्रेस को संबोधित करते हुए योगेन्द्र यादव ने कहा कि सभी ट्रैक्टर दिल्ली में प्रवेश करेंगे। किसान जितने भी ट्रैक्टर अलग अलग शहरों से लेकर पहुंच रहे हैं, सभी को परेड में शामिल होने दिया जाएगा। यह मार्च पूरी तरह शांतिपूर्ण होगा।

डॉ. दर्शनपाल और योगेन्द्र यादव ने कहा कि जितने भी मोर्चे हैं, सभी के लिए बैरिकेट्स खुलेंगे। परेड के बाद सभी ट्रैक्टर वहीं लौटेंगे, जहां से रवाना हुए हैं। आउटर रिंग रोड पर परेड के बारे में पूछने पर मोर्चा के नेताओं ने कहा कि इसके लिए फिलहाल पुलिस के साथ हुई बैठक के बाद निर्णय लिए गए हैं। रविवार को ट्रैक्टर परेड पर आगे की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जाएगा। इस मौके पर युद्धवीर सिंह ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर किसी भी जगह बैरिकेट नहीं होंगे। गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि बैरिकेट्स खुले होने की वजह से किसानों को बैरिकेट तोड़ने की जरूरत नहीं होगी और यह किसानों की जीत है। किसान नेताओं ने स्पष्ट किया कि परेड सिंगल रूट पर नहीं होगी। अलग अलग रूट पर तय किए गए हैं, जो अलग अलग सीमाओं पर समाप्त होंगी। 




Live TV

-->
Loading ...