Bill Gates birthday

Birthday Special: दुनिया के सबसे अमीर आदमी बिल गेट्स के बारे में कुछ रौचक किस्से

नई दिल्लीः बिल गेट्स का नाम किसी परिचय का मोहताज नहीं। 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन में जन्मे बिल ने वर्ष 1975 में पाल एलन के साथ मिलकर साफ्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की। तब कौन जानता था कि यह देखते ही देखते दुनिया की सबसे बड़ी साफ्टवेयर कंपनी बन जाएगी और गेट्स पर्सनल कंप्यूटर के क्षेत्र में क्रान्ति के अग्रदूत बनेंगे। उनकी तरक्की की रफ्तार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 32 साल पूरे होने के पहले ही 1987 में उनका नाम अरबपतियों की फ़ोर्ब्स की सूची में आ गया और कई साल तक वह इस सूची में पहले स्थान पर रहे।

लिखी 2 किताबें
अथाह धन होने के बावजूद बेहद सामान्य और सहज जीवन बिताने वाले बिल गेट्स अपनी कमाई का एक बड़ा हिस्सा धर्मार्थ कार्यों एवं समाज सुधार पर खर्च करते हैं। उन्होंने दो किताबें भी लिखीं हैं, द रोड अहेड और बिजनेस @ स्पीड ऑफ़ थॉट्स। पिछले तीन साल से गेट्स और अमेजन के जेफ बेजोस में दुनिया के सबसे रईस व्यक्ति के लिए प्रतिस्पर्धा चल रही है। फोर्ब्स की लिस्ट में इस समय बेजोस नंबर एक और गेट्स दूसरे नंबर पर हैं।

Bill Gates, coder extraordinaire | Considerable

32 साल बाद मिली डिग्री
बता दें कि बिल गेट्स ने हॉवर्ड यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया था, लेकिन बीच में उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी। हालांकि ड्रॉप आउट होने के पूरे 32 साल बाद 2007 में हॉवर्ड ने उन्हें हॉनरेरी डिग्री दी थी। वहीं कॉलेज ड्रॉप आउट की वजह थी, एलन के साथ मिलकर ‘माइक्रो-सॉफ्ट’ को लांच करने की योजना।

Bill Gates Donates 100 Million to Coronavirus Research – The Muslim Times

पुराने ख्यालों के माता-पिता
बिल और मिलिंडा गेट्स पुराने ख्यालों के माता-पिता हैं, जब तक उनके बच्चे 14 साल को नहीं हो गए, उनको मोबाइल फोन नहीं दिया। अब भी उनके घर में एप्पल के प्रोडक्ट्स पर बैन है।

Bill Gates and Melinda Gates reveal the secret to relationship success —  Quartz at Work

भारत के लोगों के लिए कर रहे हैं ये बडा़ काम
बिल गेट्स के दिल में भारत के लिए विशेष स्थान है। बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भारत में लंबे समय से काम कर रही है। इस संस्‍था ने 2012 तक भारत में 1 बिलियन डॉलर से अधिक का निवेश किया था। फाउंडेशन बीमारी और गरीबी से उबरने में भारत की मदद करती है। बिल गेट्स ने कहा था कि वह भारत में कुपोषण के शिकार बच्‍चों को देखकर दुखी होते हैं और उनके लिए काम करना चाहते हैं।