CBI, Hathras scandal case

CBI को मिला हाथरस कांड की जांच का जिम्मा, इन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज

लखनऊ: केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने उत्तर प्रदेश के हाथरस में 19-वर्षीय एक युवती के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और हत्या मामले में रविवार को मुकदमा दर्ज करके औपचारिक तौर पर जांच का जिम्मा संभाल लिया।

इन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज  

CBI ने उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में इस बाबत भारतीय दंड संहिता (IPC) की विभिन्न धाराओं के तहत हत्या का प्रयास (धारा 307), सामूहिक बलात्कार (376डी), हत्या (धारा 302) और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) कानून, 1989 की धारा-तीन (उत्पीड़न) के तहत मुकदमा दर्ज किया है। 

CBI ने औपचारिक तौर पर संभाला जिम्मा

CBI ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश और तदनुरुप केंद्र सरकार के कार्मिक, जन शिकायत एवं पेंशन मंत्रालय के अधीन कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग की ओर से कल देर शाम जारी अधिसूचना के बाद आज यह मुकदमा दर्ज किया। इसके साथ ही हाथरस के कथित सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले की जांच का जिम्मा CBI ने औपचारिक तौर पर संभाल लिया। 

CBI ने मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी है और जल्द ही यह टीम मौके पर जाकर अपना काम शुरु कर देगी। CBI ने गाजियाबाद के अपराध निरोधक ब्यरो (ACB) में तैनात पुलिस उपाधीक्षक सीमा पाहुजा को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। गौरतलब है कि हाथरस में 14 सितंबर को एक 19 वर्ष की युवती के साथ कथित सामूहिक बलात्कार हुआ था, जिसकी बाद में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी। राज्य सरकार ने CBI जांच की सिफारिश की थी, जिस पर केंद्र सरकार ने कल देर रात मोहर लगा दी थी।