CM CAPTAIN , Akali Dal

CM CAPTAIN ने अकाली दल को कहा किसानों को बचाने के लिए आपकी सलाह या चेतावनी की आवश्यकता नहीं है

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए विधानसभा का सत्र बुलाना उनकी सरकार का विशेषाधिकार है। उन्होंने कहा की अकाली दल इस मामले में अपनी सरकार को आदेश देने के लिए ना तो राजनीतिक और ना ही नैतिक अधिकार है। अकाली दल द्वारा दी गई चेतावनी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह हास्यास्पद था कि पार्टी ने कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव के पक्ष में मतदान से बचने के लिए पिछले विधानसभा सत्र का बहिष्कार किया। आज वही पार्टी अगले सत्र में कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रही है। उन्होंने इस मुद्दे पर अकाली दल की चेतावनी और घेराबंदी को बादल के दोहरे मानकों का एक और उदाहरण करार दिया, जिन्होंने इस मुद्दे पर किसानों के पीठ पर चाकू मारा है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्हें किसानों के हित में कोई फैसला लेने के लिए अकालियों से किसी सलाह या चेतावनी की जरूरत नहीं है। वही SAD अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भाजपा के साथ मिलकर किसानों के हितों को कॉर्पोरेट घरानों को बेच दिया। उन्होंने कहा कि वह और उनकी सरकार किसानों को बादल के पापों से बचाने के लिए हर माध्यम का उपयोग करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि किसान समुदाय के लिए भी जब विशेष रूप से अकाली दल द्वारा समस्या खड़ी की गई थी, तब भी उन्हें अपने संघर्ष से लड़ने के लिए बादल की जरूरत नहीं थी।