Yogi Adityanath

CM Yogi ने किया खुलासा, 1 मार्च से प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन लगना होगा शुरु

वाराणसी/ लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सोमवार से प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन लगना शुरु होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के चोलापुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से रविवार को प्रदेश-व्यापी संचारी रोग नियंत्रण और दस्तक अभियान का  शुभारंभ करते हुए उन्होने कहा ‘‘अभी से जो हमारी तैयारी होगी, वह गर्मियों  व बरसात में आने वाली तमाम संचारी रोगों से  बचाव के लिए काम आएगी। हम सभी को बचाव व जागरुकता का एक मौका दे रहे  है। देश और प्रदेश में कोरोना वायरस के साथ ही हम तमाम उन बीमारियों को मात देने के प्रयास में है जिनके कारण अक्सर हजारों मौतें होती हैं। संचारी रोग नियंत्रण अभियान एक से 31 मार्च तथा दस्तक अभियान 10 मार्च से 15 दिनों तक चलेगा।’’  
    
उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कोरोना देश और प्रदेश में न्यूनतम स्तर पर आए गया है और सोमवार से प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन लगना  शुरु होगा। लगभग 10 महीने तक कोरोना के साथ जूझते हुए देश प्रदेश ने  कोरोना को मात दे दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने जो मार्गदर्शन दिया उनकी प्रेरणा ने पूरे देश को वैश्विक महामारी कोरोना से बचाने के लिए बहुत बड़ी भूमिका का निर्वहन किया। मस्तिष्क ज्वर के कारण पूर्वी उत्तर प्रदेश, गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन मंडल, बरेली मंडल, मुरादाबाद मंडल सहारनपुर मंडल समेत अन्य क्षेत्रों में इस हज़ारों  लोग संक्रमित होते थे। सैकड़ो मौते होती थीं।  पिछले 40-45 सालों  में किसी सरकार ने इसका हाल चाल नहीं लिया। 2017 में जब प्रदेश में बीजेपी की सरकार आई तो सरकार ने इस बीमारी के उपचार के लिए अंतर विभागीय समन्वय किया एवं स्वास्थ्य विभाग को नोडल विभाग बनाते हुए विशेष अभियान प्रारंभ किया गया।  

योगी ने बताया कि पिछले दिनों लखनऊ में जापानी इंसेफेलाइटिस टीकाकरण का विशेष अभियान प्रारम्भ किया था। इंसेफेलाइटिस के प्रति नागरिकों को जागरुक करने एवं इससे बचाव के लिए टीकाकरण के साथ जोड़ने का विशेष अभियान प्रारंभ किया। योगी ने कहा ‘‘मुङो प्रसन्नता है कि उत्तर प्रदेश के 38 जिलों में बुखार के मामले आते थे लेकिन आज ऐसा नहीं है और हम इसको अंतिम चरणों में पूरी तरह से नियंत्रण करने के लिए अग्रसर हुए हैं।’’  मुख्यमंत्री ने बचाव पर ज़ोर देते हुए बताया कि उचित रणनीति का ही परिणाम है कि वर्षों से हज़ारों बच्चों की जान ले चुकी  दिमागी बुखार जैसी बीमारी में  75 प्रतिशत और उससे होने वाली मौतों  में 95 प्रतिशत की कमी आ गयी है । उन्होने कहा कि जितनी भी विषाणु-जनित बीमारियों के पीछे मुख्य कारण बाहर शौच करना, गंदगी व शुद्ध पेयजल का अभाव था जो अब नहीं रहा। प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत हर एक परिवार को एक-एक शौचालय उपलब्ध कराने का काम किया। जल जीवन मिशन के तहत सभी लोगों को स्वच्छ जल आपूर्ति में सफलता प्राप्त होगी इसके पहले भी स्वच्छ भारत मिशन में जो लक्ष्य था उसे प्राप्त करने में सफलता प्राप्त की है। अब हर गांव में सामुदायिक शौचालय बन रहे हैं। 









 




Live TV

Breaking News

Loading ...