Cabinet, ethanol prices, jute sack

कैबिनेट का फैसलाः एथेनॉल की कीमतों में बढ़ौतरी, जूट पैकेजिंग को भी मिली मंजूरी

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बृहस्पतिवार को हुई बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए हैं। एथेनॉल की कीमतों में 5 से 8 फीसदी बढ़ोतरी की गई है। शुगर से बनने वाले एथेनॉल की कीमत 62.65 रुपए प्रति लीटर कर दी गई है। इससे चीनी मिलों के हाथ में ज्यादा पैसा आएगा और वे किसानों के बकाए का भुगतान कर पाएंगे। पेट्रोल में 10 प्रतिशत एथेनॉल को मिलाने की अनुमति है। इस कदम से प्रदूषण कम करने में भी मदद मिलेगी, क्योंकि एथेनॉल पर्यावरण के अनुकूल ईंधन है।

जूट उद्योग की मदद के लिए सरकार ने खाद्यान्नों की सौ फीसदी पैकिंग और चीनी की 20 प्रतिशत पैकिंग जूट की बोरियों में किया जाना अनिवार्य कर दिया है। बैठक के बाद सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि मंत्रिमंडलन ने अनिवार्य जूट पैकेजिंग आदेश का विस्तारित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से हजारों किसानों के साथ साथ साथ जूट उद्योग में लगे लगभग चार लाख श्रमिकों को लाभ होगा। जूट (पटसन) मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल, ओडिशा, असम, मेघालय, त्रिपुरा और आंध्र प्रदेश में उगाया जाता है।