Covid 19 epidemic

कोविड-19 महामारी के बीच चीन ने गरीबी उन्मूलन लक्ष्य पूरा किया


चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के पोलित ब्यूरो की स्थायी समिति ने 3 दिसंबर को सम्मेलन आयोजित किया। चीन के सर्वोच्च नेता शी चिनफिंग ने इस मौके पर कहा कि 8 साल के निरंतर संघर्ष के बाद चीन ने पूर्व निर्धारित समय पर नए युग में गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य पूरा कर लिया है। मौजूदा मानकों के अनुसार सभी ग्रामीण गरीबों को गरीबी से बाहर निकाला गया है और सभी गरीब ज़िलों ने गरीबी से छुटकारा पाया है। निरपेक्ष गरीबी और समग्र क्षेत्रीय गरीबी का उन्मूलन किया गया। लगभग 10 करोड़ गरीब लोग गरीबी से बाहर आ चुके हैं। 

प्राचीन और आधुनिक समय में गरीबी उन्मूलन देश के प्रशासन में एक प्रमुख बात है। चीन सरकार ने "मानव इतिहास में गरीबी के खिलाफ सबसे बड़ी और मजबूत लड़ाई" छेड़ी, जिससे चीन की संस्थागत श्रेष्ठता पूरी तरह प्रदर्शित हुई। वास्तविक स्थिति के अनुसार सटीक गरीबी उन्मूलन के लिए कई अद्वितीय बड़े कदम उठाये गये, जिनमें औद्योगिक विकास, पुर्नविस्थापन और पारिस्थितिक संरक्षण से गरीबी उन्मूलन बढ़ाना आदि शामिल हैं। और अनगिनत परिवारों के भाग्य बदले । 

गरीबी के खिलाफ निर्णायक लड़ाई ने न केवल चीन के करोड़ों परिवारों की नियति को बदल दिया है, बल्कि दुनिया पर भी गहरा प्रभाव डाला है। सुधार और खुलेपन के पिछले 40 वर्षों में चीन में 70 करोड़ से अधिक लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया है, जिसका दुनिया के गरीबी उन्मूलन में योगदान दर 70 प्रतिशत से अधिक है। विश्व बैंक के पूर्व गवर्नर किम योंग ने चीन के गरीबी उन्मूलन कार्य को मानव इतिहास में सबसे बड़ी बातों में से एक बताया। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भी कहा कि सटीक गरीबी उन्मूलन सबसे गरीब लोगों की मदद करने और 2030 सतत विकास एजेंडे के भव्य लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एकमात्र तरीका है। चीन के अनुभव अन्य विकासशील देशों के लिए सीखने लायक हैं। 

शी चिनफिंग ने कहा कि गरीबी उन्मूलन गंतव्य नहीं है, बल्कि नए जीवन और नए संघर्ष के लिए शुरुआती बिंदु है। चीन के लिए गरीबी उन्मूलन सबसे पहला पड़ाव होगा, उसके बाद समाज की समृद्धि और चीनी राष्ट्र का महान पुनरुत्थान किया जाएगा। चीन की सरकार और जनता के बेहतर भविष्य बनाने के कदम कभी नहीं रुकेंगे। 
(साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

Loading ...