China

चीन : संबंधित पक्ष हांगकांग के मामलों और चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करें

चीन संबंधित पक्षों से अंतर्राष्ट्रीय कानून और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के सावधानीपूर्वक बुनियादी मापदंड का पालन करते हुए किसी भी तरीके से हांगकांग के मामलों और चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करने का आग्रह करता है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वनपिन ने 5 मार्च को पेइचिंग में यह बात कही।

रिपोर्टों के अनुसार 5 मार्च को बेलारूस ने 70 देशों की ओर से संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 46वें सम्मेलन में संयुक्त भाषण देते हुए हांगकांग से जुड़े मामलों में चीन के रुख और कदमों का समर्थन किया और पश्चिमी देशों द्वारा हांगकांग मामलों की आड़ में चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करने का विरोध किया।

संबंधित सवाल के जवाब में वांग वनपिन ने कहा कि व्यापक विकासशील देशों ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में फिर एक बार न्याय की आवाज सुनायी। इससे जाहिर है कि तथ्य ऊंचा बोलते हैं, न्याय लोगों के दिल में है। राष्ट्रीय प्रभुसत्ता, सुरक्षा और विकास के हितों की रक्षा करने, एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति लागू करने और हांगकांग में समृद्धि व स्थिरता बनाए रखने में चीन का दृढ़ संकल्प अविचल है।

वांग वनपिन ने यह भी कहा कि चीन हमेशा से एक देश दो व्यवस्थाएं, हांगकांग का प्रबंधन हांगकांगवासियों द्वारा निश्चित करने और उच्च स्तर के स्वशासन की नीति पर कायम रहता है। चीन की केंद्र सरकार के संबंधित कदम हांगकांगवासियों के कानूनी अधिकारों व स्वतंत्रता की गारंटी, हांगकांग के दीर्घकालीन समृद्धि व स्थिरता और एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति के कार्यांवयन के लिए लाभदायक हैं। हांगकांग चीन का है, हांगकांग का मामला चीन का अंदरूनी मामला है। किसी भी देश, संगठन और व्यक्ति का इसमें हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है।
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )




Live TV

-->
Loading ...