Chinese Ambassador

चीनी राजदूत ने 70 देशों के संयुक्त भाषण पर चीन के रुख पर प्रकाश डाला

जिनेवा स्थित संयुक्त राष्ट्र कार्यालय और स्विट्ज़रलैंड स्थित अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों में स्थित स्थायी चीनी प्रतिनिधि छन श्यू ने 5 मार्च को चीनी-विदेशी संवाददाताओं के लिए वीडियो न्यूज ब्रीफिंग आयोजित की।

छन श्यू ने कहा कि 5 मार्च को आयोजित संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 46वें सम्मेलन में बेलारूस ने 70 देशों की ओर से चीन द्वारा हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति लागू करने का समर्थन दोहराया। उनका मानना है कि हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून का कार्यांवयन होने के बाद वहां पर स्थिरता धीरे-धीरे बहाल हो रही है।

प्रभुसत्ता संपन्न देश के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप न करना संयुक्त राष्ट्र चार्टर का महत्वपूर्ण सिद्धांत है और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों का सावधानीपूर्वक बुनियादी मापदंड भी है। हांगकांग चीन की प्रादेशिक भूमि का एक अभिन्न भाग है, हांगकांग का मामला चीन का अंदरूनी मामला है। संबंधित पक्षों को चीन की प्रभुसत्ता का सम्मान करते हुए चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप बंद करना चाहिए।

छन श्यू ने कहा कि इन देशों के संयुक्त भाषण से पूर्ण रूप से जाहिर है कि हांगकांग से जुड़े मामलों में चीन के न्यायपूर्ण रुख और कदम को व्यापक समर्थन मिला है। कुछ पश्चिमी देशों की मानवाधिकार के बहाने से चीन पर दबाव डालने और चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करने की कुचेष्टा अवश्य ही विफल होगी।

छन श्यू ने कहा कि आयोजित हो रहे 13वीं एनपीसी की स्थाई कमेटी के चौथे पूर्णाधिवेशन में हांगकांग में चुनाव व्यवस्था सुधारने के बारे में फैसले का विचारार्थ किया जाएगा। हाल के वर्षों में स्थिति से जाहिर है कि हांगकांग में चुनाव व्यवस्था को समय के साथ सुधारना चाहिए, ताकि एक देश दो व्यवस्थाओं की नीति के कार्यांवयन और देशभक्त के हांगकांग का शासन करने के सिद्धांत के लिए गारंटी दी जा सके।
( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )




Live TV

-->
Loading ...