Chinese economic

एशियाई पड़ोसी देशों के अर्थतंत्र को भी प्रेरित करेगी चीनी आर्थिक पुनरुत्थान

इस साल के चीनी राष्ट्र दिवस और मध्य शरत उत्सव के दौरान चीन के घरेलू उपभोग बाजार की तेजी से बहाली हुई है। आठ दिनों की छुट्टियों में देश के 63.7 करोड़ लोगों ने यात्रा की और घरेलू पर्यटन की कुल आमदनी 4 खरब 66.56 अरब चीनी युआन तक पहुंची। चीनी गोल्डन हफ्ते से विश्व ने चीनी अर्थतंत्र का मजबूत पुनरुत्थान देखा है।

चीनी यातायात परिवहन मंत्रालय के नये आंकड़े बताते हैं कि 1 से 8 अक्तूबर तक देश के 37.9 करोड़ लोग रेल गाड़ियों, विमानों, वाहनों या जहाजों से बाहर गये थे। बड़े पैमाने वाले लोगों के सुरक्षित स्थानांतरण से चीन द्वारा महामारी की रोकथाम करने और आर्थिक व सामाजिक विकास के मेल से निपटारा करने की क्षमता दिखायी गयी है। चीनी वाणिज्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले साल की तुलना में पिछले आठ दिनों की छुट्टियों में देश के खुदरा बिक्री और रेस्तरां की बिक्री में 4.9 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। गोल्डन हफ़्ता चीनी आर्थिक पुनरुत्थान का सर्वेक्षण करने की एक खिड़की है। चीनी आर्थिक शास्त्री वांग ईमिंग का मानना है कि चीनी अर्थतंत्र महामारी के दबाव में खड़ा हुआ है। चीन में महामारी रोकथाम और आर्थिक पुनरुत्थान दोनों विश्व के आगे रहा है। चीनी अर्थव्यवस्था में मजबूत लचीलापन और जीवित शक्ति दिखी है। 

विश्व बैंक द्वारा हालिया जारी रिपोर्ट के मुताबिक इस साल चीन की आर्थिक विकास दर 2 प्रतिशत पहुंचेगी। चीन विश्व में एकमात्र आर्थिक विकास हासिल करने का प्रमुख देश बनेगा। अमेरिकी सीएनबीसी ने 5 अक्तूबर को एक रिपोर्ट जारी कर कहा कि चीनी अर्थव्यवस्था महामारी से बाहर आने वाली है, जो एशियाई पड़ोसी देशों के अर्थतंत्र को भी प्रेरित करेगी। उधर ब्रिटिश बीबीसी ने कहा कि गोल्डन हफ्ते के दौरान चीन में घरेलू पर्यटन महामारी से पहले के स्तर तक बहाल किया जा चुका है। घरेलू उपभोग ने चीनी पर्यटन अर्थतंत्र के पुनरुत्थान को तेज किया है। चीनी अर्थतंत्र और समाज सामान्य रास्ते में वापस लौट रहे हैं। एशिया के अन्य देश भी चीन की तरह उपभोग को घरेलू बाजार में स्थानांतरित कर सकते हैं। 
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)