China India

चीन भारत सीमा मसले पर चीनी विदेश मंत्रालय का बयान

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वनपिन ने बुधवार को हुई प्रेस वार्ता में चीन भारत सीमा मसले को लेकर बताया कि फौरी कार्य यही है कि भारतीय पक्ष जल्दी से गलत कार्रवाई को ठीक कर यथाशीघ्र ही सीमा क्षेत्र में अलग हो और ठोस कदमों से तनाव कम करे। चीन भारत सीमा मुद्दे पर भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के हालिया बयान पर टिप्पणी करते हुए प्रवक्ता ने बताया कि चीन का रूख हमेशा स्पष्ट है। चीनी पक्ष दोनों देशों के बीच संपन्न हुए समझौतों का सख्त पालन करता है और सीमांत क्षेत्र की शांति व स्थिरता की सुरक्षा में लगा है।इस के साथ चीन राष्ट्रीय प्रभुसत्ता और सुरक्षा की डटकर रक्षा करता है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल चीन भारत सीमा क्षेत्र की घटनाओं की जिम्मेदारी चीनी पक्ष की नहीं है ।भारतीय पक्ष ने पहले ही द्विपक्षीय समझौते और महत्वपूर्ण समानताओं का उल्लंघन कर गैरकानूनी रूप से रेखा पार कर उकसावा दिया। पहले ही सीमांत क्षेत्र की यथास्थिति बदली, पहले ही गोली चलाकर चीनी सीमा बल की सुरक्षा को धमकी दी। वांग वन पिन ने कहा कि कुछ दिन पहले दोनों देशों के विदेश मंत्रियों ने मॉस्को में मिलकर पाँच सूत्रीय समानताएं बनाई।

आशा है कि भारत चीन के साथ आगे बढ़ेगा और दोनों देशों के नेताओं के बीच संपन्न श्रृंखलात्मक समानताओं का पालन कर मतभेदों को उचित स्थान पर रखेगा और मतभेदों को विवाद के रूप में नहीं बदलने देगा। साथ ही ऐसी कार्रवाई से बचेगा, जिससे शायद स्थिति और बिगड़े।चीन भारत के साथ राजनयिक और फौजी माध्यम से वार्ता बनाए रखकर एक साथ सीमांत क्षेत्र की शांति और स्थिरता की सुरक्षा करना चाहता है।