Xinjiang

तिब्बत और शिनच्यांग के पुस्तकालयों में क्लाउड रीडिंग सेवा

23 अप्रैल को 25वां "विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस" है। तिब्बत के ल्हासा में स्थित तिब्बत स्वायत्त प्रदेश पुस्तकालय ("तिब्बत पुस्तकालय") 21 अप्रैल को फिर से खुल गया है। हर साल 1.2 लाख से अधिक पाठक इस सार्वजनिक पुस्तकालय में आते हैं। महामारी के दौरान पुस्तकालय को बंद हुआ था, लेकिन सेवा को बंद नहीं। महामारी के दौरान स्कूलों को बंद किया गया तो युवा छात्रों को फिर भी पुस्तक संसाधन प्राप्त करवाने के लिए तिब्बत पुस्तकालय ने कई ऑनलाइन रीडिंग चैनल लॉन्च किए। पाठक आधिकारिक वेबसाइट मिनी प्रोग्राम और वीचैट सार्वजनिक मंच के जरिए तिब्बती-चीनी द्विभाषी किताबें, पत्रिकाओं और ऑडियो बुक को ऑनलाइन पढ़ सकते हैं।

तिब्बती पुस्तकालय में 4 लाख से अधिक किताबें हैं और 1.5 लाख से अधिक तिब्बती प्राचीन पुस्तकें और तिब्बती दस्तावेज हैं। महामारी के दौरान ऑनलाइन रीडिंग सेवा शुरू करने से किसान और चरवाह अपने मोबाइल फोन में क्यूआर कोड को स्कैन करने के जरिए पुस्तकालय में संरक्षित अमूर्त सांस्कृतिक विरासत और लोक नृत्य की ऑडियो और वीडियो मल्टीमीडिया सामग्रियों को ऑनलाइन देख सकते हैं।

विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस के मौके पर सिनच्यांग के उरूमची शहर के आर्थिक और तकनीकी विकास क्षेत्र के एक समुदाय में क्लाउड रेडिंग गतिविधि आयोजित हुई। इसमें निवासी घर से बाहर निकलने के बिना पुस्तकों को पढ़ सकते हैं। लोग वीचैट मिनी प्रोग्राम खुलने के बाद क्यूआर कोड को स्कैन करने के जरिए 1.2 लाख ई-पुस्तकें, 5000 सेट ऑडियोबुक, 1000 वीडियो ऑनलाइन देख सकते हैं और साथ ही ऑनलाइन कक्षाएं भी मुफ्त रूप से ले सकते हैं। 

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)