Shrimann Hospital, corona patients

Jalandhar के Shrimann Hospital की बड़ी लापरवाही, कोरोना मरीजों की डेड बॉडी हुई अदला-बदली, परिवार ने किया हंगामा

जालंधर : पिछले समय के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद उनके शव बदले जाने के मामले सामने आए थे। अब ऐसा ही एक मामला जालंधर  के एक प्राईवेट अस्पताल की लापरवाही का सामने आया है। जालंधर में पठानकोट रोड पर स्थित श्रीमन अस्पताल में रविवार को उस भारी हंगामा हो गया जब कोरोना संक्रमित 2 मरीजों की मौत के बाद उनके शव बदल दिए गए। एक परिवार ने तो दूसरे के शव ले जाकर अंतिम संस्कार तक कर दिया। इसका पता तब चला जब एक परिवार ने मृतक की शिनाख्त से इनकार कर दिया। मामला पुलिस तक पहुंच गया तो पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी। थाना-8 की पुलिस ने इस बारे में मृतक तरसेम लाल के पुत्र प्रभलीन सिंह की शिकायत पर आईपीसी की धारा 297 के तहत मामला दर्ज किया गया है। अस्पताल में कोरोना के दो मरीजों की मौत हो गई थी। मृतक जसपाल सिंह फगवाड़ा का रहने वाला था, जबकि दूसरा मरीज मॉडल हाउस जालंधर का रहने वाला था। गलती यह हुई कि तरसेम लाल का शव फगवाड़ा पहुंच गया और जसपाल सिंह के परिजनों ने उनका अंतिम संस्कार कर दिया।

मॉडल हाऊस के रहने वाले विजय सागर ने बताया कि उनके ताऊ तरसेम लाल पुत्र जगत राम को कुछ दिन पहले बीमार होने पर गुलाब देवी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। 20 नवम्बर को हालत गंभीर होने पर उन्हें श्रीमन अस्पताल में भेजा गया था। वहां से उन्हें बताया गया कि उनके ताया जी की मौत हो गई है। इस पर परिवार के सदस्य अस्पताल पहुंचे और तरसेम लाल की पत्नी गुरमेल कौर ने अपने मृत पति का चेहरा दिखाने के लिए कहा गया, जब इस बड़ी लापरवाही (अदला-बदली) का पता चला तो परिजन अस्पताल पहुंचकर हंगामे पर उतर आए। माहौल में तनातनी की सूचना मिलने पर DCP बलकार सिंह और ACP नॉर्थ सुखजिंदर सिंह और थाना 8 के SHO कमलजीत सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। बाद में इस बारे में अस्पताल के सटाफ सदस्यों और अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।