Desi, foreign

देसी-विदेशी लोगों ने बहुपक्षवाद का समर्थन देने की अपील की

संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ की स्मृति में अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी 1 सितंबर को पेइचिंग में आयोजित हुई। इस संगोष्ठी की थीम है बहुपक्षवाद को मजबूत करें, एक साथ सुन्दर भविष्य बनाएं। इसमें भाग लेने वाले देसी-विदेशी मेहमानों ने कहा कि वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र चार्टर में शामिल उद्देश्य और नीति-नियम का विकास करना खास महत्वपूर्ण है। बहुपक्षवाद का समर्थन अभी तक मानव के विकास व प्रगति की सही दिशा को सुनिश्चित करने का एकमात्र चुनाव है।

चीनी स्टेट कॉसिलर व विदेश मंत्री वांग यी ने वीडियो भाषण देते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को एक साथ कार्रवाई करके बहुपक्षवाद की रक्षा और मानव के विकास व प्रगति की सही दिशा की रक्षा करनी चाहिये।
बोआओ एशिया मंच के अध्यक्ष, पूर्व संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान कीमून ने संगोष्ठी में वीडियो भाषण देते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप ने मानव के सामने फिर एक बार खतरे की घंटी बजायी है। विभिन्न देशों को सहयोग करके एक साथ चुनौतियों का मुकाबला करना चाहिये।

माल्टा के प्रधानमंत्री के विशेष दूत, विश्व व्यापार संगठन के स्थाई प्रतिनिधि डॉ. एलेक्स ट्रायगोना ने कहा कि बहुपक्षवादी व्यवस्था के सामने चुनौतियां पैदा हुई हैं। हाल के कई वर्षों में अमेरिका ने लगातार अपने अंतर्राष्ट्रीय कर्तव्य व जिम्मेदारी को ठुकरा दिया। ऐसी कार्रवाई ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की स्थिरता को बर्बाद किया है।
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)