Dhvani Bhanushali

ध्वनि भानुशाली ने 2021 में अपना अलग पक्ष दिखाने का किया वादा

ध्वनि भानुशाली ने साल 2018 में लॉन्च होने के बाद दो साल के कम समय में एक गायिका के रूप में बहुत लोकप्रियता हासिल कर ली है। वहीं अगले साल वह एक संगीत कलाकार के रूप में अपनी क्रिएटिविटी का अलग पक्ष दिखाने का वादा करती है। चाहे वह बॉलीवुड के गाने हों या ‘दिलबर’ या ‘वास्ते’ जैसे पॉप सिंगल्स हों, उन्होंने कई हिट गाने दिए हैं। उनका कहना है कि लॉकडाउन ने उन्हें एक संपूर्ण कलाकार के रूप में अपने कौशल को चमकाने का मौका दिया है।

ध्वनि ने एक खास बातचीत के दौरान कहा, ‘‘हम घर पर थे और परिवार के साथ समय बिता रहे थे। मैं ‘रियाज’ और संगीत सीखने पर ध्यान केंद्रित कर रही थी। मैंने देर से संगीत सीखना शुरू किया। इसलिए, मेरे लिए सीखने के हिस्से पर ध्यान केंद्रित करने का एक अच्छा समय था और मैं गाने बनाने की कोशिश कर रही थी। उम्मीद है, अगले साल हमारे पास कुछ होगा।’’

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें अपने गाने लिखने का भी मौका मिला है, उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस पर काम कर रही थी। यह मेरा एक पक्ष है, जिसे मैंने अभी तक नहीं प्रदर्शित किया है। उन्हें 2021 तक तैयार हो जाना चाहिए।’’ इससे पहले वह नवंबर में एक नया सिंगल लाने वाली हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह साल एक धमाके के साथ समाप्त होगा और फिर दूसरे धमाके के साथ शुरू होगा।’’

ध्वनि ने हाल ही में एक नया गाना ‘बेबी गर्ल’ रिलीज किया, जिसमें गायक गुरु रंधावा भी हैं। इसकी शूटिंग पिछले महीने गोवा में हुई थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सचमुच डरी हुई थी। आप समझ सकते हैं कि इतने लोगों से मिलना (महामारी के बीच) एक पूरी तरह से अनजान शहर में जाना कैसा लगता है। जोखिम था, लेकिन आपको काम करना होगा। यह बहुत ही मजेदार था और सभी सावधानियों के साथ किया गया था। हम लगातार सैनिटाइजेशन कर रहे थे।’’

ध्वनि ने आगे कहा, ‘‘मेरा जीवन संगीत वीडियो के बारे में रहा है, लेकिन हालांकि यह रेमो (डिसूजा) सर के साथ था, तो यह एक बड़ा अवसर था। मैं वास्तव में उत्साहित थी। यहां तक कि गुरु भी थे। मुझे उनसे मैच करना था।’’ संगीत वीडियो में उन्हें मजा आता है, लेकिन फिल्म में अभिनय करने के बारे में अभी वह सपना नहीं देख रही है। गायिका ने कहा, ‘‘अभी के लिए मैं अपने संगीत करियर पर ध्यान केंद्रित करना चाहती हूं, पहले पॉप स्टार बनना चाहती हूं और फिर अगर मैं अच्छी रही तो अन्य चीजों में भी हाथ आजमाऊंगी। तीन घंटे की फिल्म करना आसान नहीं है। विभिन्न दृश्यों को करना एक अलग बॉल गेम है। आपको प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है। इसलिए मुझे कुछ समय चाहिए।’’