toolkit case, Disha Ravi, Delhi Police, Public Prosecutor Irfan Ahmed

टूलकिट मामले में दिशा रवि ने निकिता और शांतनु को ठहराया दोषी

टूलकिट मामला


नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को यहां की एक अदालत को बताया कि जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि टूलकिट मामले में पूछताछ के दौरान जवाब देने में आनाकानी कर रही है और उसने सारा दोष सह-आरोपी निकिता जैकब और शांतनु मुलुक पर मढ़ दिया। पुलिस ने कोर्ट से उसे 3 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का अनुरोध किया। पुलिस ने कहा कि मामले में सह-अभियुक्त शांतनु को नोटिस दिया गया है, जो 22 फरवरी को जांच में शामिल होंगे जिसके बाद दोनों का आमना-सामना कराया जाएगा।

लोक अभियोजक इरफान अहमद ने अदालत को बताया कि वह जवाब देने में आनाकानी कर रही है। हमने सह-आरोपी शांतनु को नोटिस दिया है, जो 22 फरवरी को जांच में शामिल होंगे। उसका सह-अभियुक्त के साथ आमना-सामना करवाया जाएगा। अभियोजन पक्ष ने कहा कि पूछताछ के दौरान, दिशा रवि ने निकिता और शांतनु पर दोष मढ़ दिया है। सभी आरोपियों को एक-दूसरे के साथ आमना-सामना करवाने की आवश्यकता है।  

बता दें कि, किसानों के विरोध से संबंधित सोशल मीडिया पर ‘टूलकिट’ साझा करने और संपादित करने के आरोप में दिशा रवि को 13 फरवरी को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था। फिर उसे 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। दिल्ली पुलिस ने प्रो-खालिस्तानी ग्रुप-पोएटिक जस्टिस फाउंडेशन और उसके सक्रिय सदस्यों की पहचान करने और हटाए गए व्हाट्सएप ग्रुप को फिर से प्राप्त करने के लिए हिरासत की मांग की थी।

एंड्रायड पर Dainik Savera App डाउनलॉड करें



Live TV

-->
Loading ...