Vastu Shastra, pictures

वास्तु शास्त्र के अनुसार जीवित व्यक्तियों के साथ कभी न लगाएं पूर्वजों की तस्वीरें, नहीं तो...

हर किसी के घर में उनके पूर्वजों की तस्वीरें तो जरूर लगी होती हैं। ये तस्वीरें सजाने के लिए नहीं बल्कि इन्हें घर पर लगाने से कहा जाता है की पूर्वजों का आशीर्वाद हमेशा बना रहता है। इस वजह से पूर्वजों की तस्वीरें लगाते समय विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। जी हाँ, वास्तु शास्त्र के अनुसार माना जाता है की घर में पूर्वजों की तस्वीरें लगाते समय कुछ ऐसी बातें हैं जिनका अगर ध्यान न रखा जाए तो ये आपके लिए और आपके परिवार के लिए बहुत सी परेशानियां खड़ी कर सकता है। तो चलिए जानते हैं उन बातों क बारे में जिनका आपको पूर्वजों की तस्वीरें लगते समय विशेष ध्यान रखना है। 

* कभी भी हमें अपने पूर्वजों की तस्वीरें देवी-देवताओं के साथ नहीं लगाना चाहिए। हमारे पूर्वज भी देवताओं की तरह ही शक्तिशाली होते हैं लेकिन इनको देवताओं के समकक्ष नहीं माना जाता है। ऐसा करने से देवदोष लगता है और देवी-देवताओं के शुभ फल भी हमें प्राप्त नहीं होते हैं। 

* कभी भी पूर्वजों की फोटोज बेडरूम या किचेन में नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में पारिवारिक विवाद बढ़ने लगता है तथा सुख-समृद्धि भी कम होने लगती है।

* घर के मध्य भाग में भी कभी पूर्वजों की फोटो नहीं लगाना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से मान-सम्मान की हानि होती है।

* पूर्वजों की फोटोज कभी घर के जीवित व्यक्तियों के साथ ना लगाएं। ऐसा करने से जीवित मनुष्य पर इसका नकारात्मक असर पड़ता है और जीवित मनुष्य की उम्र कम हो जाती है।

* घर में पूर्वजों की फोटोज कभी भी लटकते हुए या झूलते हुए नहीं लगाना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से मनुष्य का जीवन भी तस्वीर की ही भांति लटकता और झूलता रहता है।

यहां लगाएं पूर्वजों की तस्वीरें- 
पूर्वजों की तस्वीरों को हमेशा घर के उत्तरी भाग के कमरों में लगाना चाहिए। अगर ऐसा संभव न हो तो घर में पूर्वजों की फोटो उत्तरी दिवार से लगाना चाहिए, जिससे इनकी दृष्टि हमेशा दक्षिण की ओर बनी रहे।इससे मृत्यु खतरे से बचाव होता है। 



Live TV

Breaking News

Loading ...