Economic revival

एशिया प्रशांत में आर्थिक पुनरुत्थान शुरू हुआ है:आईएमएफ़

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ़) ने 21 अक्तूबर को एशिया प्रशांत क्षेत्र की आर्थिक संभावना पर रिपोर्ट जारी की। इस के अनुसार वर्ष 2020 में एशिया प्रशांत क्षेत्र की अर्थव्यवस्था शायद 2.2 प्रतिशत सिकुड़ जाएगी। इस वर्ष के जून में किये गये अनुमान से इस में 0.6 प्रतिशत की कटौती हुई है। वर्ष 2021 में 6.9 प्रतिशत की वृद्धि होगी। रिपोर्ट के अनुसार एशिया प्रशांत में आर्थिक पुनरुत्थान शुरू हुआ है, लेकिन वह संतुलित नहीं है।
रिपोर्ट में यह कहा गया है कि कोविड-19 महामारी अभी तक विश्व में फैल रही है। एशिया प्रशांत क्षेत्र में आर्थिक पुनरुत्थान शुरू हुआ है, लेकिन संतुलित नहीं है। इस क्षेत्र में विभिन्न आर्थिक समुदायों में आर्थिक पुनरुत्थान की गति बराबर नहीं है। आर्थिक वृद्धि की संभावना कोविड-19 महामारी की संक्रमण दर, इस की रोकथाम से जुड़े कदम, और नीतियों के पैमाने व प्रभावशीलता आदि तत्वों से संबंधित है।
ठोस आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष एशिया-प्रशांत क्षेत्र में विकसित आर्थिक समुदाय की अर्थव्यवस्था शायद 4 प्रतिशत सिकुड़ेगी। नवोदित बाजार व विकासशील आर्थिक समुदाय की अर्थव्यवस्था 1.6 प्रतिशत सिकुड़ेगी। उन में चीन की अर्थव्यवस्था में दूसरे तिमाही से तेजी से वृद्धि हुई है। इसलिये पूरे साल में 1.9 प्रतिशत की वृद्धि प्राप्त करने की संभावना होगी।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)