Dharmendra Pradhan, oil prices, petrol diesel, GST

तेल के बढ़ते दामों पर बोले धर्मेंद्र प्रधान, पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने का प्रयास जारी

नई दिल्लीः देश में तेल की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं। कई शहरों में पेट्रोल 100 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। तेल की बढ़ती कीमतों पर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि हम पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स को जीएसटी में शामिल करने के लिए समीक्षा कर रहे हैं लेकिन इसे जीएसटी में शामिल करना या न करना जीएसटी काउंसिल के ऊपर निर्भर करता है। साथ ही उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने की वजह से घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ रही है।

सोनिया गांधी को दिया जवाब
तेल की कीमतों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र पर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सोनिया जी को पता होना चाहिए कि राजस्थान और महाराष्ट्र में सबसे अधिक कर है। लॉकडाउन के दौरान केंद्र और राज्य सरकारों की कमाई बेहद कम थी। हमने नौकरियों में वृद्धि लाने के लिए बजट में विभिन्न क्षेत्रों को बड़े हिस्से आवंटित किए हैं।

तेल के दाम बढ़ने के कारण
गौरतलब है कि इससे पहले बीते दिन उन्होंने तेल की कीमतों में तेजी के दो मुख्य बताए थे। सबसे पहले इंटरनैशनल मार्केट ने तेल का उत्पादन कम कर दिया है और तेल उत्पादक देश ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए कम उत्पादन कर रहे हैं। इसका खामियाजा उपभोक्ता देशों को उठाना पड़ रहा है। इसकी अन्य वजह कोविड है। उन्होंने कहा  हमें विकास के कई काम करने हैं। इसके लिए केंद्र और राज्य सरकारें टैक्स कलेक्ट करती हैं। विकास के कामों पर खर्च करने से रोजगार पैदा होंगे। सरकार ने अपना निवेश बढ़ा लिया है और इस बजट में पूंजीगत खर्च 34 फीसदी बढ़ाया गया है। राज्य सरकारें भी अपना खर्च बढ़ाएंगी। इसलिए हमें इस टैक्स की जरूरत है लेकिन साथ ही संतुलन बनाने की भी जरूरत है।'

Live TV

Breaking News

Loading ...