Electricity , Tikari border

टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के तंबुओं की बिजली काटी तो किसानों ने जेनरेटर से रोशन किए 300 तंबू

दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों के तंबुओं की बिजली काट दी गई है। अब किसान राशन-पानी के साथ बिजली की व्यवस्था के लिए जनरेटर साथ लेकर चल दिए हैं। पंजाब के दौनकलां गांव से पानीपत टोल प्लाजा पहुंचे किसानों ने बताया कि एक जनरेटर से 300 तंबुओं को रोशन किया जा सकेगा। वह खुद डीजल खरीदकर किसानों के तंबुओं में दिन-रात बिजली सप्लाई देंगे। कृषि कानूनों के विरोध में किसान तीन जगह बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं। 26 जनवरी के बाद से किसानों को धरने से उठाने के लिए अलग-अलग हथकंड़े अपनाए जा रहे हैं। पंजाब के पटियाला जिले के गांव दौनकलां के किसान मक्खन सिंह, कमलजीत सिंह, हरप्रीत सिंह, गिरिंदर सिंह, हर्ष भोला और सतवीर सिंह ने बताया कि टिकरी बॉर्डर पर किसानों के तंबुओं की बिजली काट दी गई। कुछ किसान ट्रैक्टर की बैट्री को इंवर्टर से जोड़कर बल्ब जलाया और मोबाइल चार्ज किया। लेकिन, बहुत से ऐसे तंबू हैं, जहां बिजली सप्लाई नहीं है। ऐसे तंबुओं को बिजली सप्लाई देने के लिए अब वह अपने घर का जेनरेटर टिकरी बॉर्डर ले जा रहे हैं। एक जेनरेट से 300 तंबुओं को सप्लाई मिलेगी।



Live TV

Breaking News

Loading ...