Employment survey

शिनच्यांग में अल्पसंख्यक जातीय लोगों की रोजगार सर्वेक्षण रिपोर्ट जारी

पश्चिमी देशों के कुछ थिंक टैंकों ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि चीन के शिनच्यांग प्रदेश में अल्पसंख्यक जातीय लोगों के जबरन श्रमिक की स्थिति मौजूद है। लेकिन इसकी सच्चाई क्या है? इसको लेकर शिनच्यांग प्रदेश के विकास अनुसंधान केंद्र द्वारा कुछ विद्वानों को आमंत्रित कर इस क्षेत्र में अल्पसंख्यक जातीय लोगों की रोजगार स्थिति की जांच की गयी। 

जांच दल ने शिनच्यांग प्रदेश के कई शहरों तथा पेइचिंग और थिएनचिन आदि बड़े शहरों के कारोबारों तथा सहकारी कंपनियों का दौरा किया। और वहां के उद्यमियों तथा अल्पसंख्यक जातीय लोगों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की। जिसके आधार पर एक निष्कर्ष रिपोर्ट लिखी गयी। रिपोर्ट के मुताबिक चीन के दूसरे क्षेत्रों के सरकारी विभागों तथा कारोबारों ने शिनच्यांग प्रदेश में अल्पसंख्यक जातीयों की रोजगार बढ़ाने के लिए भारी सहायता दी। इसमें जबरन श्रम की कोई बात नहीं मौजूद है। पश्चिमी थिंक टैंकों की वे रिपोर्टें बिल्कुल निराधार है। 

शिनच्यांग अल्पसंख्यक जातीय लोगों की रोजगार सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार शिनच्यांग की सरकार ने रोजगार प्रशिक्षण के संदर्भ में भारी पूंजी निवेश किया है। वर्ष 2014 से 2019 तक शिनच्यांग में कुल 69.5 लाख श्रमिकों की व्यावसायिक प्रशिक्षण किया गया जिससे कई लाख नये रोजगार मौके तैयार हुए। और सरकार की मदद में बहुत से अल्पसंख्यक जातियों को संतोषजनक नौकरी मिल पायी है। और वर्ष 2014 से 2019 तक शिनच्यांग के 1 करोड़ 65 लाख श्रमिकों ने देश के दूसरे क्षेत्रों में काम किया। 

( साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग )