Farmers praised CM Captain

कृषि कानूनों को बेअसर करने के लिए विधानसभा में 4 बिल पास करने पर किसानों ने CM Captain की प्रशंसा की

जालंधर: ज़िले के किसानों ने केंद्र सरकार की तरफ से हाल ही में लाए गए तीन कृषि कानूनों को बेअसर करने के लिए मंगलवार को विधानसभा में चार बिल पास करने पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की प्रशंसा की है। किसानों ने मुख्यमंत्री को 'किसानी का रक्षक' करार दिया। 

यहां बताने योग्य है मुख्यमंत्री ने आज किसान उत्पादन व्यापार और वाणिज उत्साहित करने और आसान बनाने (पंजाब संशोधन) बिल 2020, ज़रूरी वस्तुएं (विशेष उपबंध और पंजाब संशोधन) बिल 2020, किसानों के कीमतों के भरोसे और खेती सेवाओं बारे इकरार (पंजाब संशोधन) बिल 2020 और किसी भी रिकवरी की प्रीकिया में किसानों को कुर्की से बचाने के लिए कोड आफ सिविल प्रोसीजर 1908 की धारा में संशोधन समेत 4 ऐतिहासिक बिल पंजाब विधान सभा में पेश किये गए।

गांव नाहला के किसान मेजर सिंह, जोकि नई अनाज मंडी में अपनी धान की फ़सल लेकर आए थे, ने कहा कि विधानसभा में केंद्र के तीन किसान विरोधी कानूनों को ख़ारिज करने और एमएसपी से कम फसलों की खरीद के लिए तीन साल की सज़ा यकीनी करके किसानों और उनके बच्चों की सुरक्षा करने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रशंसनीय कदम उठाया है। विधीपुर के किसान मनप्रीत सिंह ने भी मुख्यमंत्री को कृषि भाईचारो के सच्चे रक्षक के तौर पर प्रशंसा की, जिन्होंने आज विधान सभा में एतिहासिक चार बिल पास किये।

इसी तरह किसान हरभुपिन्दर सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा लाये गये बिलों ने किसानों को कम से कम समर्थन मूल्य का अधिकार यकीनी बनाया और फ़सल को एमएसपी से कम बेचने की सूरत में तीन साल तक की सज़ा हो सकती है। कुक्कड़ गाँव के नौजवान किसान गोपी सिंह ने भी मुख्यमंत्री की तरफ से उठाये गए इस कदम को ऐतिहासिक करार दिया, जिससे किसानों को प्राईवेट करोबरियों के हाथों से बचाया जा सकेगा और किसानों को एमएसपी का अधिकार यकीनी बनेगा।