कोविड

कोविड मरीजों से फोन के माध्यम से लिया जा रहा फीडबैक

होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को फोन कर जिला प्रशासन ऊना फीडबैक ले रहा है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के कार्यालय में तैनात टीम प्रात: 9:30 बजे से शाम 7 बजे तक कोरोना संक्रमित मरीजों को कॉल कर उनसे कुछ प्रश्नों को उत्तर पूछ रही है। स्वास्थ्य विभाग से कोरोना संक्रमितों की लिस्ट प्रत्येक मंगलवार तथा शुक्रवार को डीडीएमए को प्राप्त होती है तथा उसी के मुताबिक कॉलिंग की जाती है। कॉल कर रही टीम पूछ रही है कि क्या आशा वर्कर ने उनसे घर आकर बात की है या नहीं। क्या उन्हें होम आइसोलेशन से संबंधित बुकलैट प्राप्त हुई है या नहीं। क्या उनके पास घर पर आॅक्सीमीटर है या नहीं। इसके अलावा मरीजों से अन्य बीमारियों तथा अन्य परेशानियों के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को अक्तूबर के अंत से कॉल करने की प्रक्रिया शुरू की गई है, ताकि उनसे सुविधाओं व परेशानियों के संबंध में फीडबैक लिया जा सके। जिला प्रशासन सिर्फ कॉलिंग हीं नहीं कर रहा, बल्कि कोरोना संक्रमितों तथा उनके परिवारों की हर संभव मदद का प्रयास भी कर रहा है। डॉक्टर भी देंगे टैली काऊंसलिंग इस संबंध में उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने कहा कि जिला प्रशासन का फीडबैक सिस्टम कारगर सिद्ध हो रहा है। अब जल्द ही कोविड मरीजों को टैली काऊंसलिंग की सुविधा भी प्रदान की जाएगा। आयुर्वेद विभाग को दो डॉक्टर कॉलिंग टीम के साथ बिठाने के निर्देश दिए गए हैं, ताकि मरीजों की काउंसलिंग की जा सके तथा स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां होने पर उनकी सहायता की जा सके।

Loading ...