shocking news

जानिए इस गांव में महिलाएं क्यों जाती हैं चोरी छुपे शारीरिक संबंध बनाने के लिए गांव से बाहर

आज हम आपको एक ऐसे अजीबो गरीब गांव के बारे में बताने जा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं कांटों की फेंसिंग से घिरे केन्या के समबुरू का उमोजा गांव की। यह दुनिया का सबसे अनोखा गांव है जहां मर्दो का जाना बैन है। पिछले 27 साल से यहां सिर्फ महिलाएं रहती आ रही हैं।1990 में इस गांव को 15 ऐसी महिलाओं के रहने के लिए चुना गया, जिनके साथ ब्रिटिश जवानों ने रेप किया था। इसके बाद ये गांव पुरुषों की हिंसा का शिकार हुई महिलाओं का ठिकाना बन गया। बाद में इस गांव में रेप, बाल विवाह, घरेलू हिंसा और खतना जैसी तमाम हिंसा झेलनी वाली महिलाओं ने अपना बसेरा बना लिया। इस गांव में इस वक्त करीब 250 महिलाएं और बच्चे रह रहे हैं। गांव में महिलाएं प्राइमरी स्कूल, कल्चरल सेंटर और सामबुरू नेशनल पार्क देखने आने वाले टूरिस्ट्स के लिए कैंपेन साइट चला रही हैं। इस गांव की अपनी वेबसाइट भी है। यहां रहने वाली महिलाएं गांव के फायदे के लिए पारंपरिक ज्वैलरी भी बनाकर बेचती हैं। साथ ही ये महिलाएं सफारी घूमने आने वाले टूरिस्ट्स को अपना गांव दिखाती हैं।

अनोखा गांव जहाँ 27 सालों से बिना पुरुष महिलाएँ दे रही हैं बच्चों को जन्म! -  Rochak Post



इनसे एंट्रेंस गेट पर गांव की महिलाओं द्वारा तय एंट्री फीस ली जाती है जिससे इस गांव का खर्चा चलता है। इस गांव में महिलाओं की तादाद लगातार बढ़ रही है। वहीं वो बच्चों को भी जन्म दे रही है। इसका कारण है कि वे शारीरिक संबंध बनाने के लिए गांव से बाहर चोरी छुपे जाती है और पसंदीदा मर्द के साथ संबंध बनाती हैं। इस तरह वो वंश भी चला रही है और शारीरिक सुख भी पा रही हैं।

Breaking News

Live TV

Loading ...