Ghanshyam Thori

घनश्याम थोरी ने पराली के बुरे प्रभावों के बारे में जागरूक करने के लिए 5 वैनों को हरी झंडी देकर किया रवाना

जालंधरः डिप्टी कमिशनर घनश्याम थोरी ने जमीनी स्तर पर किसानों को पराली जलाने के बुरे प्रभावों के बारे में जागरूक करने के लिए बुधवार को 5 जागरूकता वैनों को हरी झंडी देकर रवाना किया। डिप्टी कमिश्नर ने जिला प्रशासकीय कांप्लेक्स से जागरूकता वैन को हरी झंडी देकर रवाना करते हुए कहा कि इनके जरिए ऑडियो संदेश द्वारा लोगों को धान की पराली जलाने के बुरे प्रभावों के बारे जागरूक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से जूझ रहे मरीजों की सेहत पर पराली का धुआं और भी बुरा प्रभाव डाल सकता है। उनके साथ अतिरिक्त डिप्टी कमिशनर (ज) जसबीर सिंह भी मौजूद थे।
 
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि धान की पराली किसानों के लिए बेहद लाभप्रद है और इसको किसी भी कीमत पर जलाया नहीं जाना चाहिए। फसल के अवशेष मिट्टी की उपजाऊ शक्ति को बढ़ाने में अहम भूमिका अदा करते हैं। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि पराली जलाने से वातावरण को खतरा पैदा हो रहा है। यह अति-आधुनिक वैन धान की पराली के प्रबंधन की जरूरत के बारे किसानों को जागरूक करने में सहायक  साबित होंगी। ऑडियो संदेशों के अलावा यह वैनें धान की पराली को संभालने के प्रभावशाली तरीकों और पराली को आग लगने से होने वाले प्रदूषण बारे जागरूक करने के लिए किसानों तक प्रचार सामग्री के जरिए भी जानकारी पहुंचाएंगी।