Former Congress MLA, letter to Governor, Bahubali Mukhtar Ansari

अजय राय को बाहुबली मुख्तार अंसारी से जान का खतरा, राज्यपाल को लिखा पत्र

वाराणसीः कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर जेल में बंद माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी से अपनी जान को खतरा होने का दावा किया है। उन्होंने अपने लिए सुरक्षा की मांग की है। अपने पत्र में, राय ने कहा कि उन्होंने 6 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पहले ही सूचित कर दिया था कि वह प्रयागराज में सांसद/विधायक अदालत के सामने अपने भाई अवधेश राय की हत्या से संबंधित एक मामले में अंसारी के खिलाफ गवाह के रूप में उपस्थित होंगे। 

राय ने कहा कि उनका सुरक्षा कवर वापस ले लिया गया और शस्त्र लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है। पूर्व विधायक ने कहा, मुख्यमंत्री ने मेरे पत्र पर ध्यान नहीं दिया, जबकि 10 प्रतिशत निर्धारित शुल्क पर मुझे दिए गए सुरक्षा कर्मियों को भी वापस ले लिया गया। राय ने सवालिया लहजे में कहा, अगर सरकार वास्तव में मुख्तार अंसारी को सजा सुनिश्चित करने में दिलचस्पी रखती है, तो इसने मेरे जीवन को दांव पर लगाते हुए यह जानने के बावजूद मेरा सुरक्षा कवर क्यों वापस ले लिया कि मेरे सबूत उसके लिए मृत्युदंड सुनिश्चित करेंगे?

राय के भाई की 1991 में उनके आवास के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।अजय राय बाहुबली मुख्तार अंसारी और इस मामले के अन्य अभियुक्तों के खिलाफ शिकायतकर्ता और मुख्य गवाह हैं, हालांकि उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों में मुख्तार की कौमी एकता दल का समर्थन प्राप्त किया था। इससे पहले, भाजपा विधायक और कृष्णानंद राय की विधवा अलका राय ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार मुख्तार को बचा रही है, जो रोपड़ जेल में बंद है।



Live TV

-->
Loading ...