chandigarh

पंजाब के पूर्व DGP सुमेध सैनी को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट से मिली अंतरिम जमानत

चंडीगढ़ः पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी को बलवंत सिंह मुल्तानी मामले में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुमेध सैनी को  सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिल चुकी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार,  सुमेध सैनी को 1 लाख रुपए मुचलका देना होगा और साथ ही सुमेध सैनी को पासपोर्ट जमा करवाना होगा।आपको बता दें कि पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सैनी ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. पंजाब सरकार ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में कैवियट आवेदन दाखिल किया था, ताकि एकपक्षीय आदेश नहीं हो। 

न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह को खंडपीठ ने कहा कि यदि याचिकाकर्ता को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 302 के तहत दर्ज अन्य प्राथमिकी के लिए गिरफ्तार किया जाता है तो उन्हें एक लाख रुपए के निजी बॉन्ड पर रिहा कर दिया जाएगा। 

खंडपीठ ने सुमेध सैनी को अपना पासपोर्ट जमा कराने का भी आदेश दिया। साथ ही यह भी कहा कि वह जांच में पूर्ण सहयोग करेंगे। न्यायालय ने उन्हें आगाह किया है कि वे कथित हत्या मामले के आरोपियों से दूर रहेंगे। न्यायालय ने गत 17 नवंबर को इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था।

क्या है पूरा मामला
यह पूरा मामला 1990 दशक का है। उस दौरान सुमेध सिंह सैनी चंडीगढ़ के एसएसपी थे। 1991 में उन पर एक आतंकी हमला हुआ। उस हमले में सैनी की सुरक्षा में तैनात चार पुलिसकर्मी मारे गए थे, जबकि सैनी खुद भी जख्मी हो गए थे। उसी मामले में पुलिस ने सुमेध सैनी के आदेश पर पूर्व आईएएस के बेटे बलवंत सिंह मुल्तानी को गिरफ्तार किया था।

Loading ...