villagers

महासचिव जी! आप हमारे गांव का जीवन देखें : गांववासी

नदी में बहता साफ पानी, नदी के दोनों किनारों पर बसे सुन्दर मकान, मदमस्त कर देती चाय की सुगंध, और आराम फरमाते स्थानीय गांववासी। यह दृश्य दक्षिण चीन के बजाये दक्षिण शैनशी प्रांत की पिंगली काउंटी के लोश्येन कस्बे का है। 

21 अप्रैल को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के महासचिव शी चिनफिंग वहां के लोगों का हालचाल जानने के लिए पधारे थे। यह चिनपिंग समुदाय गरीबी उन्मूलन के लिए विस्थापन से बना। इस समुदाय में विस्थापित 11 गांवों के 1346 परिवारों के 4173 लोग रहते हैं। इधर कुछ सालों में गांववासियों के जीवन में कायापलट हुई।

गांववासियों को गरीबी से कैसे निजात मिली। लो श्येन कस्बे के गरीबी उन्मूलन कार्यालय के निदेशक चेन ल्यांग फू ने परिचय देते हुए कहा कि मुख्य उपाय विस्थापन, व्यवसाय और रोजगार है, जिसमें रोगगार के मुख्य तरीके बाहर जाकर परिश्रम करना, खुद उद्यम खोलना और सामुदायिक कारखाने में काम करना।

पार्टी और सरकार की अच्छी नीतियों से गांववासियों का जीवन दिन-ब-दिन अच्छा हो रहा है। पहले आये दिन प्राकृतिक आपदा होती रहती थी। अब लोग अमनचैन से जीवन बिताने लगे हैं। समुदाय में नये रास्ते, नये मकान, नया स्कूल, नयी रसोईघर, पानी की पाइपलाइन, नये शौचालय नजर आने लगे हैं। यही गांववासियों का नया जीवन है। (साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)