government, gold, app, hallmark

सोना असली है या नकली? अब सरकार की यह ऐप बताएगी गोल्ड की क्वालिटी

नई दिल्लीः भारतीयों का सोने के प्रति लगाव किसी से छिपा नहीं है। शादी-विवाह से लेकर हर शुभ अवसर पर भारतीय सोना खरीदते हैं। लेकिन कई बार जल्दी के चक्कर में लोग यह देखना भूल जाते हैं सोने की क्वालिटी क्या है और यह कितना खरा है। इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने एक खास ऐप लॉन्च किया है, जिससे गोल्ड की क्वालिटी का पता चलेगा।

रामविलास पासवान ने किया लॉन्च
इस ऐप का नाम बीआईएस-केयर है। इस ऐप को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने लॉन्च किया है। ग्राहक ऐप का इस्तेमाल आईएसआई और हॉलमार्क गुणवत्ता प्रमाणित उत्पादों की प्रामाणिकता की जांच के लिए कर सकते हैं। इसके अलावा शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। हिंदी और अंग्रेजी में काम करने वाले इस ऐप को, किसी भी एंड्रॉइड फोन पर चलाया जा सकता है और इसे गूगल प्ले स्टोर से मुफ्त डाउनलोड किया जा सकता है।

हॉलमार्किंग की डेडलाइन बढ़ाई
इसके साथ ही सरकार ने गोल्ड ज्वलेरी पर हॉलमार्किंग की डेडलाइन को साढ़े चार महीने के लिए बढ़ा दिया है। इसके बाद अब नई डेडलान 1 जून 2021 तक के लिए बढ़ गई है। खाद्य मंत्री ​राम विलास पासवान ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए हॉलमार्किंग की डेडलाइन बढ़ाने का फैसला लिया गया है। हॉलमार्किंग कीमती धातुओं की शुद्धता का ​सर्टिफिकेट होता है। फिलहाल यह अनिवार्य नहीं है। पिछले साल नवंबर में केंद्र सरकार ने ऐलान किया गया था कि सोने के गहनों पर हॉलमार्किंग अनिवार्य किया जाएगा। उस दौरान इसकी डेडलाइन 15 जनवरी 2021 रखा गया था।