China economic

स्वर्णिम सप्ताह ने चीन का आर्थिक लचीलेपन दिखाया

आम तौर पर स्वर्णिम सप्ताह चीनी अर्थव्यवस्था की समीक्षा करने की खिड़की माना जाता है। सिलसिलेवार आंकड़े बताते हैं कि अभी-अभी गुजरे हफ्ते में चीनियों का उपभोक्ता उत्साह साफ तौर पर नज़र आया है। 1 से 8 अक्तूबर तक देश के 63.7 करोड़ लोगों ने यात्रा की और घरेलू पर्यटन की कुल आमदनी 4 खरब 66.56 अरब युआन तक पहुंची। 

देश की खुदरा बिक्री और रेस्तरां की बिक्री में 4.9 प्रतिशत का इजाफा हुआ, जो 16 खरब युआन तक पहुंची है। देश में फिल्म बॉक्स ऑफिस की कमाई 3.952 अरब चीनी युआन पहुंची, करीब 10 करोड़ लोगों ने फिल्में देखीं । न्यूयार्क टाइम्स ने कहा कि स्वर्णिम सप्ताह का प्रदर्शन महामारी से चीन के बाहर आने का स्पष्ट संकेत है। 

हाल में चीनी आर्थिक विकास निवेश और निर्यात पर अति निर्भरता   से बाहर आ रहा है और घरेलू मांग खास तौर पर उपभोग की तरफ स्थानांतरित हो रहा है। चीन में डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास ने इस प्रक्रिया को तेज किया है, जिसने चीन के आर्थिक पुनरुत्थान के लिए अहम स्तंभ तैयार किया है।

अमेरिकी वित्तीय पत्रिका "बैरोन" ने लेख जारी कर कहा कि पिछले कई महीनों में चीन का आर्थिक पुनरुत्थान विश्व के लिए सफल मिसाल है। चीन में आर्थिक पुनरुत्थान ने विश्व पर गहरी छाप छोड़ी है, जिसका एक अहम कारण चीन सरकार का प्रबल नेतृत्व और आर्थिक स्थिति के प्रति लोगों का उच्च विश्वास है।

हाल में महामारी के प्रकोप से विश्व अर्थव्यवस्था मंदी में रही है। विश्व की दूसरी बड़ी आर्थिक इकाई होने के नाते चीन का आर्थिक पुनरुत्थान चीन और दुनिया के लिए लाभदायक है। चीन द्वारा तमा उत्पादों का आयात करने से अन्य देशों के उद्यमों को व्यापक विकास के मौके मिलेंगे।

आईएमएफ और विश्व बैंक आदि अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं के अनुमान के मुताबिक चीन इस साल में एकमात्र प्रमुख आर्थिक इकाई होगा, जिसका आर्थिक विकास बेहतर है। निसंदेह हालिया स्थिति में चीन विश्व के लिए और ज्यादा विश्वास और आशा की किरण ला सकेगा। 
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)