Manohar Lal

लोगों की शिकायतों का हो रहा तुरंत समाधान

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का कार्यालय ट्विटर हैंडल पर प्राप्त हुई शिकायतों /टिकटों का समाधान करने के लिए लगातार कार्य कर रहा है। इसमें भ्रष्टाचार जैसी शिकायतें भी शामिल हैं। प्रदेश सरकार सुशासन सुनिश्चित करना चाहती है और इसीलिए ट्विटर हैंडल पर आने वाली शिकायतों का समाधान करते हुए प्रदेशवासियों की सेवा में जुटी हुई है। सोशल मीडिया शिकायत ट्रैकर ने हाल ही में एक सेवानिवृत्त सीमा सुरक्षा बल के सिपाही प्रताप सिंह का बचाव करते हुए उनकी समस्या का समाधान किया। श्री प्रताप सिंह ने अपनी शिकायत में कहा था कि लोहारू तहसील कार्यालय में अधिकारियों ने उनके संपत्ति हस्तांतरित आवेदन को प्रतिपादित करने के लिए उनसे अतिरिक्त पैसे की मांग की। 

इस संबंध में मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार ध्रुव मजूमदार ने कहा कि ट्विटर हैंडल से प्रताप सिंह की शिकायत का पता चला। इसमें उन्होंने कहा था कि तहसीलदार कार्यालय में अधिकरियों ने जमीन को स्थानांतरित करने के लिए 500 रु पये की मांग की जबकि इसके लिए शुल्क 200 रु पये है। अधिकारियों ने इसकी रसीद भी उन्हें नहीं दी। इसके बाद एसएमजीटी की टीम तुरंत कार्रवाई में जुट गई। कार्रवाई के बाद अधिकारियों ने गलती स्वीकार करते हुए बाकी के 300 रु पये उन्हें लौटा दिए। इसी तरह, एक अन्य शिकायत में गुरु ग्राम निवास चार्टटेड अकांउटेंट अशोक गंगवाल ने शिकायत की थी कि राशन एजेंट के नाम पर धोखाधड़ी की जा रही है। 

शिकायत में कहा गया था कि धोखे से एक व्यक्ति ने उनसे राशन एजेंट के तौर ’वन नेशन - वन राशन कार्ड’ के नाम पर बिना कोई भी सेवा दिए 407 रु पये वसूल लिए। इसके बाद गंगवाल को खाद्य विभाग से एक फोन आया जिन्होंने समस्या के समाधान में उनकी सहायता की।ध्रुव मजूमदार ने राज्य के लोगों से धोखाधड़ी करने वाली वेबसाइटों से सावधान रहने का अनुरोध किया है। इसके अलावा, हाल ही में मुख्यमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल पर टिकट के माध्यम से एक और शिकायत प्राप्त हुई। इसमें शिकायतकर्ता डॉ. सत्या सारस्वत जो कि एक हेयर टांसप्लांट सर्जन हैं, उन्होंने कहा था कि पुलिस ने बिना कोई रसीद जारी किए उनका चालान काट दिया है। इस बारे में तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने प्राथमिकता के आधार पर उन्हें चालान की रसीद जारी की।



Live TV

Breaking News

Loading ...