Himachal

केंद्र की ओर से हिमाचल को बड़ी सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक सप्ताह पहले अटल-टनल रोहतांग का लोकार्पण करने आए थे तो उन्होंने हिमाचल को सहायता देने का वायदा किया था जो आज उन्होंने पूरा किया। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन व वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को ट्रांस हिमालयन राज्यों के लिए विशेष रूप से 2500 करोड़ रुपए की घोषणा की जिसमें हिमाचल प्रदेश को 450 करोड़ रुपए मिलेंगे। उन्होंने घोषणा करते हुए राज्यों के लिए विशेष ब्याज-मुक्त 50-वर्षीय पूंजीगत व्यय करने के लिए 12,000 करोड़ रुपए का ऋण, हिमाचल प्रदेश को 450 करोड़ रुपए का ब्याज मुक्त ऋण 50 वर्षों के लिए, अतिरिक्त पूंजी व्यय को प्रोत्साहन जो मांग में बढ़ावा देने का काम करेगी, राज्य सरकारें इस धन का उपयोग सड़क, इन्फ्रास्ट्रक्चर, शहरी विकास, जल आपूर्ति, विकास से जुड़े कार्यों व ठेकेदारों की पेमैंट करने के लिए इसका उपयोग हो सकता है। 


अनुराग ठाकुर ने कहा कि 50 वर्षों के लिए ब्याज मुक्त 450 करोड़ की राशि से हिमाचल के आर्थिक विकास को विकास के पंख लगेंगे व विकास कार्यों में भी कोई कमी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि हिमाचल देश के उन शीर्ष 2 राज्यों में शामिल है जिन्हें इतनी बड़ी ब्याज मुक्त धनराशि मिली है, हिमाचल को इतनी बड़ी सौग़ात मिली, कैपिटल एक्सपेंडिचर के रूप में 450 करोड़, जो सभी राज्यों में सबसे अधिक है। इस विशेष सहायता का अर्थ है: बुनियादी ढांचा विकास, रोजगार सृजन, स्व-रोजगार के अवसर, स्थानीय व्यवसायों का सशक्तिकरण, पूंजी के प्रवाह से अर्थव्यवस्था को मज़बूती व आर्थिक ख़ुशहाली होगी। प्रदेश के कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री के इस फैसले का स्वागत करते हुए आभार व्यक्त किया है।