Hypocrisy deception

पाखंड, धोखा, बदनामी ऑस्ट्रेलिया में चीन-विरोधी जालसाजी थिंक टैंक की वास्तविकता

ऑस्ट्रेलिया के रणनीति अनुसंधान प्रतिष्ठान (एएसपीआई) लंबे समय से थिंक टैंक के नाम पर अमेरिका की चीन-विरोधी शक्ति को सहायता देकर चीन के खिलाफ़ विभिन्न मुद्दों का प्रसार-प्रचार करता है, चीन से जुड़ी झूठी रिपोर्ट बनाता है, और चीन को बदनाम करता है।
हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई नागरिक पार्टी की सरकारी वेबसाइट ने लेख जारी कर इस प्रतिष्ठान का पर्दाफाश किया। वह केवल एक पाखंडी प्रसार-प्रचार उपकरण ही है। वर्तमान में इस अनुसंधान का ध्यान चीन पर केंद्रित हुआ है और वह चीन के बारे में सिलसिलेवार अफवाहें फैलने की कोशिश करता है।
लेख में लिखा है कि एएसपीआई को अमेरिकी विदेश मंत्रालय, कुछ विदेशी सरकारों, नाटो और कुछ सीमा-पार हथियार निर्माताओं से पैसे मिलते हैं, जिसका लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया को चीन की बदनामी कर अमेरिका की सहायता करना है। ऑस्ट्रेलियाई नागरिक पार्टी के अनुसार यह प्रतिष्ठान चीन-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को बर्बाद करने में उल्लेखनीय भूमिका अदा करता है।
वास्तव में सितंबर के अंत में ऑस्ट्रेलियाई नागरिक पार्टी की सरकारी वेबसाइट ने चीन के बारे में सिलसिलेवार रिपोर्ट दी हैं। रिपोर्टों में इस बात का खुलासा किया गया है कि एएसपीआई और ऑस्ट्रेलियाई सुरक्षा खुफिया संगठन ने हाल के कई वर्षों में ऑस्ट्रेलिया में विभिन्न तरीकों से चीन के खिलाफ़ अफ़वाहें फैलाकर चीन-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को बर्बाद किया है।
उधर, इस प्रतिष्ठान के कुछ तथाकथित विद्वानों ने कई बार पुस्तकें प्रकाशित कर चीनी खतरा विचार का प्रसार-प्रचार किया। ऑस्ट्रेलियाई नागरिक पार्टी ने कहा कि उन पुस्तकों में धोखे भरे हुए हैं, क्योंकि बहुत दस्तावेज और डेटा बदल दिये गये हैं।
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)