Afghan security situation

अफगान सुरक्षा स्थिति को लेकर भारत चिंतित : Rajnath Singh

मास्को/नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को रूस की राजधानी मास्को में एक बैठक के दौरान कहा कि भारत अफगानिस्तान में सुरक्षा स्थिति को लेकर चिंतित है और वह शांति के लिए स्थानीय सरकार के प्रयासों का समर्थन करना जारी रखेगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ), सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन (सीएसटीओ) और कॉमनवेल्थ ऑफ इंडिपेंडेंट स्टेट्स (सीआईएस) के रक्षा मंत्रियों की संयुक्त बैठक में भाग लेने के लिए मास्को में हैं। बैठक को संबोधित करते हुए, उन्होंने कहा, ‘‘भारत अफगानिस्तान के नेतृत्व वाली, अफगान-स्वामित्व वाली और अफगान-नियंत्रित समावेशी शांति प्रक्रिया के लिए लोगों और अफगानिस्तान सरकार के प्रयासों का समर्थन करना जारी रखेगा।’’ उन्होंने अफगानिस्तान पर एससीओ संपर्क समूह की भूमिका की सराहना की।

अफगानिस्तान में फिलहाल सुरक्षा स्थिति नाजुक बनी हुई है। वहां तालिबान और इस्लामिक स्टेट खुरासान प्रांत (आईएसकेपी) दोनों आतंकवादी संगठन पूरे देश में कभी भी हमला कर देते हैं, जिससे देश की स्थिति अस्थिर बनी हुई है। राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि भारत फारस की खाड़ी के हालात से भी चिंतित है। उन्होंने कहा कि भारत के खाड़ी के सभी राष्ट्रों के साथ महत्वपूर्ण हित और सभ्यतागत संबंध हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम इस क्षेत्र के देशों को आमंत्रित करते हैं, जो सभी भारत के प्रिय और मित्रवत हैं, ताकि आपसी सम्मान, संप्रभुता और आंतरिक मामलों में गैर-हस्तक्षेप के आधार पर बातचीत द्वारा मतभेदों को हल किया जा सके।’’ बता दें कि इससे पहले राजनाथ सिंह रक्षा सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित एक प्रतिनिधिमंडल के साथ, द्वितीय विश्व युद्ध में सोवियत संघ की विजय को चिह्न्ति करने वाले ‘विजय दिवस’ की 75वीं वर्षगांठ के कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे।