Pakistan, Iran

ईरान ने पाकिस्तान से लगी सीमा पर नागरिकों के मारे जाने की जांच की शुरू

पाकिस्तान-ईरान सीमा पर ईंधन ले जा रहे कम से कम दो लोग गोलीबारी की एक घटना में मारे गए, जिससे ईरान ने अपने दक्षिण-पूर्वी प्रांत सिस्तान-बलूचिस्तान में विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद इस मामले की तत्काल जांच शुरू की। ईरान ने कहा है कि पाकिस्तानी अधिकारियों ने कम से कम एक व्यक्ति के शव को सौंप दिया, और कहा कि वे ‘‘घटना की समीक्षा कर रहे हैं।’’
 
जबकि ईरान का कहना है कि गोलीबारी की घटना पाकिस्तान में हुई थी, पाकिस्तानी सीमा सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि ईरानी सेना द्वारा अवैध ईंधन के व्यापार में शामिल लोगों पर गोलीबारी के बाद ईरानी सीमा पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए। घटना की प्रतिक्रिया में, प्रदर्शनकारियों ने दक्षिण-पूर्वी ईरान में गवर्नर के कार्यालय पर धावा बोल दिया, पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी, और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षा बलों को आंसू गैस के गोले दागने के लिए उकसाया। 
 
प्रांतीय सुरक्षा अधिकारी ने कहा, ‘‘धार्मिक नेताओं की मदद से प्रांत में शांति लौट आई है।’’ सिस्तान-बलूचिस्तान की आबादी सुन्नी मुस्लिम बहुल है, जबकि ईरान एक शिया मुस्लिम देश है। यूनाइटेड नेशन हाई कमीशन फॉर ह्यूमन राइट्स ने ईरान को सिस्तान-बलूचिस्तान सहित क्षेत्रों में मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए के लिए दोषी ठहराया है। संयुक्त राष्ट्र की मानव अधिकार उच्चायुक्त  मिशेल बातेलेत ने कहा कि ईरान में, एक स्पष्ट रूप से समन्वित अभियान दिसंबर से अल्पसंख्यक समूहों को लक्षित कर रहा है, जिनमें सिस्तान और बलूचिस्तान, खुजेस्तान और कुर्द प्रांत शामिल हैं।



Live TV

-->
Loading ...