Kavita Krishnamurthy, birthday special, Delhi

B'day Spl: कविता कृष्णमूर्ति ने कम उम्र मे की थी बड़ी उपलब्धि हासिल, इस तरह हुई मशहूर

हिन्दी सिनेमा जगत में 90 के दशक में खूब वाह वाही बटोरने वाली मशहूर सिंगर कविता कृष्णमूर्ति का नाम दुनिया भर में शुमार है। बता दें कि आज कविता कृष्णमूर्ति अपना 63वां बर्थडे जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। कविता कृष्णमूर्ति उन सिंगर्स में से एक हैं जिन्होंने कम उम्र में ही संगीत जगत में अपनी अलग पहचान बनाई। तो आइए जानिए उनके जन्मदिन पर उनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें। 

संगीत की शिक्षा 

कविता कृष्णमूर्ति का जन्म 25 जनवरी 1958 को दिल्ली के एक तमिल परिवार में हुआ। बता दें कि उनके बचपन का नाम शारदा था। उनके पिता टीएस कृष्णमूर्ति एजुकेशन मिनिस्ट्री में काम करते थे। कविता कृष्णमूर्ति को संगीत की शिक्षा उनकी आंटी ने दी। इसके बाद उन्होंने प्रोतिम्मा भट्टाचार्य से भी संगीत की शिक्षा ग्रहण की। खास बात तो यह है कि कविता ने संगीत में 8वीं कलास में ही पहला गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

गायक मन्ना डे के कारण मिला बड़ा मौका 

बचपन में कविता परिवार संग दिल्ली छोड़ बॉम्बे रहने लगीं। पढ़ाई पूरी करने के दौरान साल 1971 में उन्हें पहली बार बंगाली फिल्म श्रीमान पृथ्वीराज के लिए लता मंगेशकर के साथ गाना गाने का मौका मिला। मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में ग्रेजुएशन के दौरान उन्हें कई प्रतियोगिओं में हिस्सा लेने का मौका मिला। इस दौरान जब एक कार्यक्रम में मशहूर गायक मन्ना डे ने उनका गाना सुना और उन्हें विज्ञापनों में गाने का मौका दिया। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

16 भाषाओं में गा चुकी हैं कविता 

आपको जानकर हैरानी होगी कि कविता कृष्णमूर्ति ने 16 भाषाओं में लगभाग 25,000 से भी अधिक गाने रिकार्ड किए हैं। उनकी आवाज का जादू सबको दीवाना बनाता है। आज भी लोग उनके गाने सुनना पसंद करते हैं।

Live TV

-->
Loading ...