deepak

इस दिशा में रखें दीपक की लौ, सुख-समृद्धि के साथ आयु में होगी वृद्धि

सभी लोग भगवान में अपनी आस्था रखते हैं। जिससे सभी भगवान की पूजा करते हैं और भगवान की कृपा प्राप्त करते हैं। भगवान की पूजा में दीपक जलाने का भी अपना खास महत्व है। दीपक जलाना हिन्दू धर्म में पवित्र माना जाता है। रोज सुबह-शाम दीपक जलाने से घर के वास्तुदोषों से मुक्ति मिलती है। आज हम आपको बताएंगे कि दीपक की लौ की दिशा किस तरफ होनी चाहिए। आइए जानते हैं कुछ उपायों के बारे में-

उपाय-
- वास्तु शास्त्र के अनुसार अगर आप अपने व्यवसाय में लाभ, वेतन में वृद्धि आदि धन लाभ की मनोकामना के लिये दीपक जला रहे हैं तो ध्यान रहे इसकी लौ उत्तर दिशा हो। उत्तर दिशा में दिये की लौ रखना धन वृद्धि के लिये लाभकारी माना जाता है।
 
- दीपक की लौ दक्षिण दिशा की ओर रखने से हानि होती है। यह हानि किसी व्यक्ति या धन के रूप में भी हो सकती है। किसी शुभ कार्य से पहले दीपक जलाते समय इस मंत्र का जप करने से शीघ्र ही सपलता मिलती है।
 
- दीपक की लौ पूर्व दिशा की ओर रखने से आयु में वृद्धि होती है। 
 
- दीपक की लौ पश्चिम दिशा की ओर रखने से दु:ख बढ़ता है।

- दीपक जलाते समय बोले यह मंत्र-

दीपज्योतिर: परब्रह्मर: दीपज्योतिर: जनार्दनर:।
दीपोहरतिमे पापं संध्यादीपं नामोस्तुते।।

दीपक जलाने का वैज्ञानिक कारण- घर में दीपक जलाने का धार्मिक कारण भी है। गाय के घी में रोगाणुओं को दूर भगाने की क्षमता होती है। गाय का घी जब अग्नि के संपर्क में आता है, तब वातावरण  का पवित्र कर देता है। दीपक जलाने से घर प्रदूषण मुक्त हो जाता है। इसके साथ ही घर के सारे सदस्यो को लाभ हाता है चाहे वह पूजा में शामिल हो या न हो।