Tejashwi Yadav

महागठबंधन घोषणा पत्र: जानिए तेजस्वी यादव ने 10 लाख नौकरी देने के अलावा जनता से किए कौन-कौन से वादे

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने 10 लाख युवाओं को स्थायी नौकरी देने के उनके वादे के बारे में कहा कि उनसे पूछा जा रहा है कि दस लाख नौकरियां कैसे देंगे। वह बता देना चाहते हैं कि बिहार में साढ़े चार लाख सरकारी पद रिक्त हैं। मणिपुर जैसे छोटे राज्य में एक लाख की आबादी पर एक हजार पुलिसकर्मी हैं, बिहार में सिर्फ 77 पुलिसकर्मी हैं। उनकी सरकार आई तो यह स्थिति बदलेगी। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता में रोजगार छीने जाने को लेकर सरकार के खिलाफ बहुत गुस्सा है। 
       
CM नीतीश को लेकर बोले यादव

श्री यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब थक चुके हैं और हार मान चुके हैं। इसलिए वह कहते हैं कि यहां समुद्र नहीं है इसलिए कल कारखाने नहीं लगा सकते लेकिन इसी बिहार में मरौढ़ा, परसा, मधेपुरा में कारखाना लगा कि नहीं। आज बिहार में चीनी मिल, जूट मिल या पेपर मिल सब ठप है। उन्होंने कहा कि बिहार में मकई, लीची, गन्ने,  केले आदि का भरपूर उत्पादन होता है लेकिन एक फूड प्रोसेसिंग यूनिट नहीं है।  उन्होंने कहा कि उनकी सरकार बनी  तो इन सब पर ध्यान दिया जाएगा।
        
नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि वे सेवा और मेवा की बात करते हैं लेकिन उनके राज में बिहार में 60 घोटाले हुए। सृजन घोटाले के आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। उन्होंने कानून व्यवस्था को लेकर भी नीतीश सरकार को घेरा और कहा कि 2015 में जब कांग्रेस, राजद और जनता दल यूनाइटेड (जद यू) की सरकार  थी तब के 18 महीने और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ चली सरकार के कार्यकाल के दौरान  अपराध के आंकड़ों की तुलना करने पर राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों से ही स्पष्ट होता है  कि बिहार में अपराध बढ़ा है। नीतीश सरकार चाहे भ्रष्टाचार का मामला हो या अपराध का, हर मोर्चे पर विफल रही है।