Coronavirus, Lufthansa, Indian flight attendants

कोरोना की मारः Lufthansa ने 103 भारतीय फ्लाइट अटेंडेंट को नौकरी से निकाला

मुंबईः जर्मनी की एयरलाइन लुफ्थांसा ने भारत में रखे गए 103 फ्लाइट अटेंडेंट को ‘नौकरी की गारंटी’ मांगने पर सेवा से निकाल दिया है। कंपनी ने उन्हें दो साल तक बिना वेतन के अवकाश पर जाने का विकल्प दिया था। मामले से जुड़े सूत्रों ने कहा कि ये कर्मचारी एयरलाइन के साथ एक निश्चित अनुबंध पर काम कर रहे थे और इनमें से कुछ 15 साल से अधिक समय से कंपनी के साथ थे।
Android पर Dainik Savera App डाउनलॉड करें
लुफ्थांसा के एक प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के गंभीर वित्तीय प्रभाव के चलते एयरलाइन के लिए पुनर्गठन के अलावा और कोई चारा नहीं बचा है। कंपनी दिल्ली स्थित उन फ्लाइट अटेंडेंट को सेवा विस्तार नहीं दे सकती है, जो तय अवधि के अनुबंध पर हैं। हालांकि प्रवक्ता ने यह नहीं बताया कि कितने कर्मचारियों को काम से निकाला गया है।प्रवक्ता के अनुसार, कई सारे कर्मचारियों की सेवाओं पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है क्योंकि कंपनी उनके साथ अलग-अलग समझौते कर पाने में सफल रही है।

बयान में कहा गया, ‘‘लुफ्थांसा को यह पुष्टि करते हुए दुख हो रहा है कि वह दिल्ली स्थित उन फ्लाइट अटेंडेंट की सेवाओं को विस्तार नहीं दे रही है, जो तय अवधि के लिए नौकरी पर रखे गए थे।’’ कंपनी ने कहा कि उसने मौजूदा स्थिति को देखते हुए 2025 तक की दीर्घकालिक योजनाओं में विमानों की संख्या में 150 की कटौती करनी होगी। इससे केबिन क्रू के कर्मियों की संख्या पर भी असर होगा।
Iphone पर  Dainik Savera App डाउनलॉड करें



Live TV

Breaking News

Loading ...