haryana, breaking news punjab,farmer protest, farming laws

हरियाणाः सुनहेड़ा किसान महापंचायत का आयोजन, मिला भरपूर समर्थन

हरियाणाः राजस्थान मेवाती किसान मोर्चा के बैनर तले सुनहेड़ा बॉर्डर पर रविवार को सफल किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। भीड़ के लिहाज से ही नही मेवाती महिलाओं की मौजूदगी के लिहाज से भी इस किसान महापंचायत ने इतिहास रच दिया। किसान महापंचायत में संयुक्त किसान मोर्चा के नेता गुरनाम सिंह चढूनी , किसान नेता युद्धवीर सिंह , राकेश टिकैत के करीबी दोस्त हाजी गुलाम मोहमद जोला , भीम आर्मी के नेता रावण के अलावा नूह जिले के तीनों कांग्रेस विधायक आफताब अहमद , मामन खान इंजीनियर , मोहमद इलियास सहित कई बड़ी हस्तियां पहुंची। किसान महापंचायत की सदारत मौलाना अरशद मीलखेड़ा ने की।

भाकियू प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि वे मेवाती आवाम द्वारा किये गए सम्मान एवं किसान आंदोलन को भारी तादाद में समर्थन देने पर हमेशा याद रखूंगा। चढूनी ने कहा कि अब ये आंदोलन एक राज्य का नही बल्कि देश के हर कोने - कोने तक फैल चुका है। युद्धवीर सिंह किसान नेता ने कहा कि हम बातचीत करने को सरकार से तैयार हैं , लेकिन सबको पता है कि सरकार किसके इशारे पर चलती है। सरकार अगर बातचीत करने को सही नियत के साथ तैयार हो तो हम महज 15 मिनट में तय स्थान पर पहुंच जाएंगे। आंदोलन लगातार तेजी पकड़ रहा है , लेकिन केंद्र सरकार अपनी जिद पर अड़ी हुई है। 

आंदोलन के मुख्य केंद्र बिंदु राकेश टिकैत के करीबी हाजी गुलाम मोहमद ने कहा कि कुछ समय के लिए मुजफ्फरनगर की घटना से भाईचारे कमजोर हुआ था , लेकिन इस आंदोलन ने फिर से मुझे और टिकैत को ही नही बल्कि 36 बिरादरी के भाईचारे को मजबूत किया है। विधायक आफताब अहमद उपनेता विधायक दल ने कहा कि तीनों कांग्रेस विधायकों का किसानों को सहयोग था और जब तक रहेगा तब तक सरकार इसे वापस नही ले लेती। राकेश टिकैत के बेटे गौरव टिकैत ने भी किसान महापंचायत में शामिल होकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। कुल मिलाकर मंच से लेकर मैदान छोटा पड़ता दिखाई दिया।



Live TV

Breaking News

Loading ...