Tibet

नया युग, नया तिब्बत- गरीबी से छुटकारा पाने के बाद खुशहाल समाज के निर्माण के लिए प्रयास करे

तिब्बत स्वायत्त प्रदेश के गरीबी उन्मूलन कार्यालय से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, पिछले 5 वर्षों में चीन के तिब्बत स्वायत्त में 6 लाख 28 हजार गरीब लोगों और सभी 74 गरीब काउंटियों या जिलों को गरीबी से बाहर निकाला गया। वर्ष 2020 में तिब्बत में गरीबों की प्रति व्यक्ति शुद्ध आय 10 हजार युआन से अधिक हो गई, किसानों और चरवाहों की प्रति व्यक्ति प्रयोज्य आय में 12.7% की वृद्धि हुई, जो लगातार 18 वर्षों तक दोहरे अंकों की वृद्धि हासिल की गई है। 
   
तिब्बत में गरीब आबादी का बड़ा हिस्सा है, गरीबी उन्मूलन की लागत अधिक है, और गरीबी का स्तर गहरा है। गरीबी से छुटकारा पाना मुश्किल है और गरीबी उन्मूलन के परिणामों को मजबूत करना भी मुश्किल है। तिब्बत में पूर्ण गरीबी की समस्या को हल करने के लिए अभूतपूर्व साहस और ज्ञान की आवश्यकता है। लेकिन, पूरी तरह से खुशहाल समाज के निर्माण के लिए, "कोई भी जाति पीछे नहीं रह सकती है" और "कोई भी एक व्यक्ति पीछे नहीं रह सकता है", यह चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा लोगों को दिया गया वचन है। यह तिब्बत में अच्छी तरह से परिलक्षित होता है।
   
अब तक तिब्बत ने गांवों में काम करने के लिए लगातार नौ खेप के 2 लाख से अधिक कैडरों का चयन किया है। विभिन्न गाँव में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सचिव के रूप में उत्कृष्ट संवर्गों का चयन किया गया। पार्टी के दर्जनों सदस्यों और कैडरों ने गरीबी उन्मूलन के कार्य में अपने जीवन का बलिदान दिया है।
   
तिब्बत विश्वविद्यालय के प्रोफेसर टुडेनखज़ु ने कहा कि तिब्बत में गरीबी उन्मूलन के दौरान प्राप्त ऐतिहासिक उपलब्धियां चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के तिब्बत के सभी जातीय समूहों के लोगों के नेतृत्व में प्राप्त शानदार गवाही है। यह समाजवादी व्यवस्था की श्रेष्ठता का प्रकटीकरण भी है।
   
गरीबी उन्मूलन कार्य पूरा किया जाने के बाद भविष्य में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेतृत्व में ग्रामीण पुनरोद्धार की रणनीति लागू की जाएगी, ताकि सुन्दर गांवों का निर्माण किया जा सके। 
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)










Live TV

-->
Loading ...