Nishad

‘निषाद’ की भाजपा को चेतावनी, मछुआरों को आरक्षण नहीं मिला तो किसानों से बड़ा आंदोलन होगा

लखनऊ: निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद) के अध्यक्ष डॉक्टर संजय निषाद ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी को चेतावनी दी कि मछुआरों के आरक्षण को लेकर सरकार ने जल्द कोई फैसला नहीं लिया तो किसानों से भी बड़ा आंदोलन किया जाएगा। 

उन्होंने कहा, अभी तक मछुआ समाज के आरक्षण को लेकर भाजपा किसी नतीजे पर नहीं दिख रही है जिससे मछुआ समाज में आक्रोश है। केंद्र और प्रदेश की सरकार अगर मछुआरों को आरक्षण देने का वादा नहीं निभाती हैं तो किसान आंदोलन से बड़ा आंदोलन मछुआ समुदाय का होगा। डॉक्टर संजय निषाद की पार्टी उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी है और 2019 के लोकसभा चुनाव में यह भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी। डॉक्टर निषाद के पुत्र प्रवीण निषाद संत कबीर नगर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के सांसद हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में निषाद ने पीस पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और उनकी पार्टी को भदोही जिले में एक विधानसभा सीट पर जीत मिली थी।

राजधानी लखनऊ में आज आयोजित पत्रकार वार्ता में डाक्टर संजय निषाद ने सहयोगी भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि जिस प्रकार देश में किसान आंदोलन चल रहा है ठीक उसी प्रकार उत्तर प्रदेश का मछुआरा समुदाय निषाद पार्टी के बैनर तले लामबंद हो रहा है।

उन्होंने कहा कि हम भाजपा के सहयोगी दल हैं लेकिन जिस प्रकार बसपा ने मछुआरों के हक पर डाका डालने का काम किया तो निषाद समाज ने बसपा को छोड़ दिया, सपा-कांग्रेस ने मछुआरों को उनका हक नहीं दिया तो उनको दरकिनार कर सपा-कांग्रेस के ताबूत में आखिरी कील ठोकने का काम मछुआ समाज ने किया, ठीक उसी प्रकार अगर भाजपा भी वादाखिलाफी करती है तो मछुआ समाज भाजपा का भी बटन दबाना बंद कर देगा।  निषाद ने कहा कि लोकसभा के पिछले उपचुनाव में मछुआ समाज गोरखपुर और फूलपुर में साथ नहीं था तो दोनों सीटें भाजपा हार गई थी।

उन्होंने कहा कि निषाद पार्टी ने तय किया है कि 17 अप्रैल को निषाद पंचमी के रूप में निषाद राज के किले पर प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी निषाद राज जयंती मनाई जाएगी। उन्होंने सरकार से निषाद राज की जयंती पर बंद अवकाश को पुन: घोषित करने की मांग की।

डॉ. संजय निषाद ने कहा कांग्रेस आज मछुआरों की हितैषी बन रही है परंतु कांग्रेस ने देश में 70 साल राज किया और अगर मछुआ समाज के हक के लिए काम किया होता तो आज मछुआ समाज की हालत ये नहीं होती। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू अगर निषादों के असली हितैषी हैं तो उन्हें कांग्रेस से त्यागपत्र दे देना चाहिए।

बीते दिन अलीगढ़ के टप्पल में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का सूबे की सरकार पर निशाना साधने पर निषाद ने कहा कि अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश की छवि देश-विदेश में खराब करने का काम कर रहे हैं, अखिलेश यादव को अपने शासन काल में हुई घटनाओं पर भी एक बार विचार करना चाहिए कि जब वो सत्ता में थे तो महिलाओं के प्रति अपराध में लगातार बढ़ोत्तरी हुई।

डॉ. संजय निषाद ने महिला सुरक्षा पर कहा कि सरकार को अधिकारियों पर सख्ती से काम लेना चाहिए क्योंकि प्रदेश में आए दिन दुष्कर्म, लूटपाट और हत्या की खबर आती है तो ऐसे में ये अधिकारियों की लापरवाही है कि वो प्रदेश में बेटियों को सुरक्षा देने में नाकाम हैं। उन्होंने अधिकारियों पर मनमाने ढंग से कार्य करने का आरोप लगाया।



Live TV

-->
Loading ...