Prevention reached near Puducherry weakened and turned into a severe cyclone

पुडुचेरी के निकट पहुंचा निवार, कमजोर होकर भीषण चक्रवात में हुआ तब्दील

चेन्नईः प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘निवार’ बृहस्पतिवार तड़के पुडुचेरी के निकट पहुंचा, जिससे केन्द्र शासित प्रदेश और पड़ोसी राज्य तमिलनाडु में भारी बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी। आईएमडी ने बताया कि ‘निवार’ पुडुचेरी के पास तट से गुजरने के बाद कमजोर होकर भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है। राज्य के राजस्व मंत्री आर. बी. उदयकुमार ने बताया कि चक्रवात की वजह से किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। कई पेड़ जरूर टूटे हैं और तमिलनाडु के कई हिस्सों में दीवारें गिरने की घटनाएं भी सामने आई हैं।

इससे पहले आईएमडी ने कहा था कि तूफान के पुडुचेरी के पास तट से गुजरते समय, 120-130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं, जो बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटे भी हो सकती हैं। ‘निवार’ बुधवार देर रात यहां पहुंचने लगा था। मौसम विज्ञान विभाग ने ट्वीट किया, ‘प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘निवार’ 25 नवम्बर रात साढ़े 11 बजे से 26 नवम्बर तड़के ढाई बजे पुडुचेरी के पास एक तट से गुजरा।’ एक अन्य ट्वीट में उसने कहा, ‘प्रचंड चक्रवाती तूफान ‘निवार’ , कमजोर होकर भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है।’ चेन्नई के मौसम विज्ञान केन्द्र के उप महानिदेशक एस. बालचंद्रन ने बताया कि तमिलनाडु में अभी बारिश जारी रहने का अनुमान है।
 
उन्होंने मीडिया से कहा, ‘तूफान अब मैदानी इलाके में है। वहां बारिश और तेज हवाएं चलनी जारी रहेंगी।’ उन्होंने बताया कि अगले छह घंटों में भीषण चक्रवाती तूफान और कमजोर हो जाएगा। उदयकुमार ने बताया कि किसी के हताहत होने या फसल को नुकसान पहुंचने की कोई खबर नहीं है। उन्होंने कहा, ‘बारिश से कोई हताहत नहीं हुआ है। लोगों ने हमें पूरा सहयोग दिया।’ उन्होंने बताया कि कई जगह से दीवार गिरने की खबर जरूर मिली हैं। उदयकुमार ने कहा, ‘ यह एक बड़ी राहत है कि कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और तूफान का कमजोर पड़ना भी एक अच्छी खबर है।’  

मंत्री ने बताया कि सुरक्षा उपायों के तहत तमिलनाडु में करीब 2.5 लाख लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है। उदयकुमार ने पत्रकारों को बताया कि अभी तक मिली रिपोर्ट के अनुसार राज्य में फसलें और उपवन भी सुरक्षित हैं। उन्होंने बताया कि हालांकि स्थिति का आकलन किया जाएगा और उसके आधार पर मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी किसानों के लिए मुआवजे और बीमा भुगतान का एलान करेंगे।
 

Loading ...