Sino European

अलशन दर्रा पोर्ट से आने-जाने वाली चीन-यूरोप शटल रेलगाड़ियों की संख्या 4 हजार के पार

कोविड-19 से प्रभावित अंतर्राष्ट्रीय वायु परिवहन और समुद्री जहाजरानी में गिरावट आयी है, जबकि थलीय पोर्ट विदेशी व्यापार को स्थिर बनाने का अहम परिवहन पास बन चुका है। अलशन दर्रा पोर्ट के कस्टम के आंकड़ों पर गौर करें तो इस साल से शिनच्यांग के अलशन दर्रा पोर्ट से आने-जाने वाली चीन-यूरोप शटल रेलगाड़ियों की संख्या 4000 पार कर गई है, जो इतिहास में एक नया रिकॉर्ड है।
अलशन दर्रा कस्टम के निगरानी प्रबंध विभाग के कर्मचारी श्वु य्वेहंग ने कहा कि विश्व महामारी की स्थिति में चीन-यूरोप शटल रेलगाड़ियों ने बेल्ट एंड रोड से जुड़े देशों और क्षेत्रों की आपूर्ति श्रृंखला को सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभाई है, जिसे घरेलू और विदेशी आर्थिक चक्र की सेवा करने और अंतर्राष्ट्रीय महामारी रोकथाम सहयोग को मदद देने का अहम माध्यम बन चुकी हैं।
गौरतलब है कि 2011 में अलशन दर्रा में पहली चीन-यूरोप शटल रेलगाड़ी का संचालन शुरू हुआ था। इस साल शटल रेलगाड़ियों से लदे कार्गो की कुल संख्या 28.74 लाख टन तक जा पहुंची है, जिसका कुल मूल्य 20.39 अरब यूएस डॉलर है।
हाल में अलशन दर्रा के जरिए चीन और यूरोप के बीच 22 रेलमार्ग हैं, और रेलगाड़ियां जर्मनी, पोलैंड, बेल्जियम और रूस आदि 13 देशों तक जा सकती हैं। लाए गए सामानों में कार और उपकरण, महामारी-रोधी सामग्री, सीमा पार ई-कॉमर्स पैकेज, कपड़े, खाद्य पदार्थ, लकड़ी आदि सामान शामिल हैं।
(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)